1,424 quarantine administration not paying heed

  • येवली गांव का मामला

गड़चिरोली. जिला मुख्यालय से महज 12 किमी दूरी पर स्थित ग्राम पंचायत येवली के क्वारंटाइन कक्ष के 120 मजदूरों में से करीब 50 मजदूर भाग जाने से जिले में खलबली मची है. मजदूरों‍ के भागने से गांव कमेटी की निगरानी पर सवाल उठ रहे हैं.

लापरवाही बनी समस्या
जिले में बाहर से आए मजदूरों को संस्थात्मक क्वारंटाइन में रखा जा रहा है. जिसके तहत बाहरी क्षेत्र से आए येवली के 120 मजदूरों को जिला परिषद स्कूल व साईनाथ विद्यालय में क्वारंटाइन में रखा गया था. जिससे उन्हें 14 दिन तक क्वारंटाइन में रहना अनिवार्य था. 14 दिवस का कालावधि पूर्ण होने के पूर्व ही 50 मजदूर भाग जाने से गांव कमेटी पर सवाल उठ रहे हैं. ग्रामीणों ने पटवारी व ग्रामसेवक गांव में उपस्थित नहीं रहने की शिकायत करने के बावजूद इस ओर अनदेखी की गई. इसका लाभ उठाते हुए क्वारंटाइन में होने वाले 50 मजदूरों के भागने की बात कही जा रही है.

तेंदूपत्ता सीजन के लिए भागे : ग्रामसेवक
इस संदर्भ में येवली के ग्रामसेवक अरुण धात्रक से पूंछने पर उन्होंने बताया कि, क्वारंटाइन में होने वाले 120 मजूदरों में से कुछ मजदूरों का क्वारंटाइन कालावधि पूर्ण नहीं हुआ था. तेंदूपत्ता सीजन शुरू होने से 50 मजदूरों के भाग जाने की जानकारी दी है.