Corona
File Photo

    • नितदिन बाधितों में कमी, कोरोनामुक्ती की ओर बढ़ रहे कदम 

    गड़चिरोली. जिले में बिते कुछ दिनों से कोरोना बाधितों की संख्या में भारी कमी आयी है, वहीं कोरोनामुक्त मरीजों की संख्या बढ़ रही है. जिस कारण सक्रिय मरीजों का प्रमाण भी जिले में कम हो रहा है. जिससे बिते माह 5 हजार के करीब सक्रिय मरीजों की संख्या हुई थी. अब सक्रिय मरीजों का आंकड़ा 1000 के निचे आया है. आज रविवार 30 मई को जिले में 196 मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौटे है. जिस कारण सक्रिय मरीजों की संख्या 916 पर आयी है.

    यह बात जिले के लिए राहतभरी साबित हो रही है. बतां दे कि, आज रविवार को जिले में 65 नए संक्रमित पाएं गए है. जिससे कुल संक्रमितों का आंकड़ा 29302 पर पहुंच गया है. जिसमें से अबतक 27668 मरीज कोरोनामुक्त हुए है. जिले में स्वस्थ्य हुए मरीजों का प्रमाण 94.42 प्रश तो सक्रिय मरीजों का प्रमाण महज 3.13 प्रश है. 

    अप्रैल माह में दिखा कोरोना का रौद्र रूप

    जिले में मार्च माह के अंतिम सप्ताह से कोरोना के दुसरे लहर को शुरूआत हुई थी. शुरूआत में प्रादुर्भाव कम दिखा. मात्र अप्रैल माह के आरंभ से ही कोरोना ने उग्र स्वरूप धारण करना प्रारंभ किया. देखते ही देखते नितदिन बाधितों की संख्या व मृत्यू का प्रमाण बढ़ गया था. समुचा अप्रैल माह कोरोना से भीषण साएं में गया. इस दौरान जिले में नितदिन 500 से अधिक बाधित तो सक्रिय मरीजों का आंकड़ा भी 5 हजार के करीब चला गया था.

    मात्र मई माह के आरंभ के बाद कोरोना संक्रमण में कुछ कमी आयी. धिरे धिरे संक्रमितों की संख्या में कमी तो कोरोनामुक्त मरीजों की संख्या बढ़ने लगी. जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के व्यापक प्रयासों के चलते जिले में कोरोना संक्रमण नियंत्रण में आ रहा है, ऐसी बात कहीं जा रही है. 

    मृत्यूसंख्या में भी भारी गिरावट

    बिते अप्रैल माह कोरोना संक्रमितों की संख्या साथ ही कोरोना से मृत्यू का प्रमाण भी बढ़ गया था. मई माह में भी मृत्यू का कहर जारी था. नितदिन 10 से अधिक मरीजों की मृत्यू दर्ज हो रही थी. किंतू बिते कुछ दिनों में मृत्यू के संख्या में भी भारी गिरावट आयी है. आज रविवार को जिले में कोरोना के चलते 4 लोगों की मृत्यू हुई है. जिस कारण कुल मृतकों का आंकड़ा 718 पर पहुंच गया है.

    नए मृतकों में देसाईगंज तहसील के कुरुड़ निवासी 65 वर्षीय पुरुष, अहेरी तहसील के निलमगुडा निवासी 65 वर्षीय महिला, मुलचेरा तहसील के कालीनगर निवासी 65 वर्षीय महिला तथा गड़चिरोली तहसील के रानमुल निवासी 44 वर्षीय पुरुष का समावेश है. जिसमें मृत्यूदर घटने से जिले को व्यापक राहत मिली है. जिले में कोरोना का मृत्यूदर 2.45 प्रश है. 

    कोरची, भामरागढ़ कोरोनामुक्ती की ओर अग्रेसीत

    जिले के उत्तरी छोर पर बसी आदिवासी बहुल, पिछड़े कोरची तहसील में कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ी थी. अब यहीं तहसील सबसे तेज कोरेानामुक्ती की ओर अग्रेसीत हो रही है. इस तहसील में अब केवल 12 सक्रिय मरीज है. वहीं पिछड़ी माने जानेवाली भामरागड़ तहसील भी इस पर आगे है. तथा सर्वाधिक सक्रिय मरीज गड़चिरोली 210 व चामोर्शी 206 है. इसके बाद मुलचेरा 95, सिरोंचा 85, अहेरी 64, देसाईगंज 63, एटापल्ली 48, आरमोरी 47, कुरखेड़ा 36, धानोरा 31 तथा भामरागढ़ में 19 मरीज सक्रिय है. 

    आरमोरी रही कोरोना रहीत 

    आज रविवार को जिले की आरमोरी तहसील में नही कोई बाधित मिला है, और नहीं कोरोनामुक्त कोई हुआ है. जिले में 65 नए संक्रमित मिले है. जिसमें गडचिरोली तहसील के 13, अहेरी 10, भामरागड़ 1, चामोर्शी 14, धानोरा 3, एटापल्ली 5, कोरची 1, कुरखेडा 5, मुलचेरा 4, सिरोंचा 3 तथा देसाईगंज तहसील के 6 संक्रमतों का समावेश है. वहीं कोरोनामुक्त हुए 196 मरीजों में गड़चिरोली 51, अहेरी 25, भामरागड़ 4, चामोर्शी 37, धानोरा 4, एटापल्ली 4, मुलचेरा 14, सिरोंचा 25, कोरची 1, कुरखेडा 9 तथा देसाईगंज तहसील के 22 मरीजों का समावेश है.