कृषि सम्मेलन: विकलांगों को राहत, भामरागड़ पुलिस का उपक्रम

    • 27 दिव्यांगों को नि:शुल्क तिपहिया साइकिल 

    भामरागड़. अतिदुर्गम तहसील के किसानों को विभिन्न योजना की जानकारी देने के उद्देश्य से व किसानों का सर्वांगीण विकास करने के दृष्टि से स्थानीय पुलिस थाना की ओर से 12 जुलाई को कृषि सम्मेलन का आयोजन किया गया. इस दौरान तहसील के 27 दिव्यांग लोगों को तिपहिया साइकिल का नि:शुल्क वितरण किया गया. जिससे किसानों के साथ ही दिव्यांगों के लिए भी यह सम्मेलन वरदान साबित हुआ है.

    पुलिस अधीक्षक अंकित गोयल, अपर पुलिस अधीक्षक मनीष कलवानिया,  सोमय मुंढे, समीर शेख के मार्गदर्शन में आयोजित कृषि सम्मेलन का उद्घाटन उपविभागीय पुलिस अधिकारी कुणाल सोनवणे ने किया. प्रमुख अतिथि के रूप में तहसीलदार अनमोल कांबले, नप मुख्याधिकारी सुरज जाधव, पशुधन विकास अधिकारी डा. नंदेश्वर, तहसील कृषि अधिकारी शांताराव शनवार, पंस कृषि अधिकारी मनीषा राजनहिरे, विस्तार अधिकारी विनायक देव्हारे, वनरक्षक नरेंद्र भरे, कृषि सहायक नलिनी सडमेक, सुरेश आत्राम, पशु पर्यवेक्षिका ज्योति गेडाम उपस्थित थे. भामरागड़ तहसील के दिव्यांग लोगों को अपने सुविधा के अनुसार सफर कर पाए, इसके लिए संवर्ग विकास अधिकारी राहुल चव्हाण से पुलिस विभाग ने समन्वय बनाकर 27 दिव्यांगों को नि:शुल्क तिपहिया साइकिल का वितरण किया. 

    सम्मेलन में कीटनाशकों का वितरण

    कृषि सम्मेलन में विभिन्न विभागों के स्टाल लगाकर पशु संबंधी, विषाणुनाशक दवा व खेती फसलों संदर्भ में कीटनाशकों का वितरण किया गया. सरकारी योजना संदर्भ में गोंड़ी भाषा में जानकारी देकर मार्गदर्शन किया गया. विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ लेने हेतु पुलिस थाना में पुलिस दादालोरा खिड़की स्थापित की गई है. इस माध्यम से लाभार्थी विभिन्न योजनाओं का लाभ ले, ऐसा आह्वान पुलिस निरीक्षक किरण रासकर ने किया. कृषि सम्मेलन की सफलता हेतु पुलिस उपनिरीक्षक मंगेश कराडे, ज्ञानेश्वर भोसले, संघमित्रा बांबोले व बिट अमलदारों ने प्रयास किया. 

    60 किसानों को बीज वितरित 

    कृषि सम्मेलन में 60 किसानों को नि:शुल्क धान बीज, तुअर बीज व चिक्कू के पौधों का वितरण किया गया. 10 नागरिकों को जाति प्रमाणपत्र, 29 नागिरकों को उत्पन्न प्रमाणपत्र, 57 नागरिकों को आयुष्यमान भारत कार्ड, वनविभाग भामरागड़ की ओर से 50 नागरिकों को पानी फिल्टर बकेट वितरित की गई. बालविकास विभाग की ओर से 3 स्तनदा मातांओं को बेबी केअर किट पेटी, 45 छोटे बच्चों को दूध पावडर का वितरण किया गया.