मंचेरियाल से सिरोंचा नयी रेलवे लाईन मंजुर करें – आविसं द्वारा सांसद नेते को सौंपा ज्ञापन

गडचिरोली. मंचेरियाल से सिरोंचा व्हाया वरंगल तक नयी रेल लाईन मंजुर करने के लिए केंद्र की ओर पहल करें, ऐसी मांग आदिवासी वद्यिार्थी संगठना द्वारा सांसद अशोक नेते को सौंपे ज्ञापन द्वारा की है. 

सांसद अशोक नेते मंगलवार को सिरोंचा दौरे पर गए होने से आविसं के पदाधिकारीयों ने उनकी भेट लेकर सिरोंचा शहर तक रेलवे जाल फैलाने संदर्भ में सकारात्मक चर्चा की. साथ ही उन्हें इस संदर्भ का ज्ञापन भी सौंपा गया. सिरोंचा तहसील 100 प्रतिशत तेलगु भाषिक है. उक्त तहसील का अब तक विकास नही हुआ है. तहसील में उद्योग व्यवसाय न होने के कारन दिन ब दिन बेरोजगारों की संख्या बढती जा रही है. पहल से रोटी-बेटी व्यवहार समेत स्वास्थ्य, उद्योग, यातायात समेत अन्य संबंध तेलंगणा के साथ है. तहसील के अधिकांश नागरिक यह मंचेरियाल में जाकर बल्लारशाह, चंद्रपुर, नागपुर व मुंबई के लिए रेलवे की सफर करते है.

सिरोंचा तहसील में बढती बेरोजगारी दुर करने के लिए तथा तहसील को विकास के मुख्य प्रवाह में लाने के लिए सिरोंचा शहर तक रेलवे जाल बिछाना आवश्यक है. तेलंगणा में वरंगल ओर मंचेरियल इन जिलों का दक्षिण ग्रामीण क्षेत्र भी रेलवे लाईन से वंचित है. इन दोनो जिलें का ग्रामीण क्षेत्र सिरोंचा व्हाया वरंगल की दुरी 180 किमी है. उक्त क्षेत्र में रेलवे जाल बिछाने से महाराष्ट्र के सिरोंचा समेत तेलंगणा के वरंगल तथा मंचेरियाल इन दोनों जिलें का विकास हो सकता है. जिससे मंचेरियाल से सिरोंचा में नई रेलवे लाईन मंजुर करने के लिए पहल करें, ऐसी मांग अशोक नेते को सौंपे ज्ञापन द्वारा की है. इस समय आविसं के सल्लागार रवी सल्लम, भास्कर आनकरी, राजन्ना मारगोनी उपस्थित थे. इस समय सांसद नेते के साथ भाजपा के वरष्ठि नेते बाबुराव कोहले, रवी ओल्लालवार, दामोधर अरिगेलावार, सत्यनारायण मंचालवार, डा. भारत खटी, संदीप कोरेत, शंकर नरहरी, कलाम हुसेन, माधव कासार्ला, जावेद आदि उपस्थित थे.