कृषी कानून विरोध में आरमोरी कडकडीत बंद

आरमोरी. केंद्र सरकार द्वारा पारित किए गए कृषी विरोधी कानून के विरोध में दिल्ली के किसानों ने आंदोलन छेडा है. इस आंदोलन को समर्थन देकर भारत बंद में शामिल होकर आरमोरी में सभीदलों समेत व्यापारी व जनता की ओर से कडाई से बंद रखा गया.

केंद्र सरकार ने पारित किए तीनों कृषी विरोधी कानून रद्द किए जाए इस मांग को लेकर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस, शिवसेना, भारिप, वंचित बहूजन आघाडी, प्रहार जनशक्ती पार्टी, माकपा, पिरीपा, मनसे, आम आदमी पार्टी की ओर से भारत बंद को प्रतिसाद देकर आरमोरी शहर बंद रखा गया. इस आंदोलन में शहर के व्यापारी व जनता ने उत्स्फूर्त प्रतिसाद देकर शहर कडाई से बंद रखा. आंदोलन में डा. महेश कोपूलवार, राजु अंबानी, तेजस मडावी, राजु गारोदे, अमिन लालानी, संदीप ठाकुर, अॅड. जगदिश मेश्राम, मिलींद खोब्रागडे, शालीकराम पत्रे, अमोल मारकवार, विजय सुपारे, महेंद्र शेंडे, कल्पना तिजारे, चंदू वडपल्लीवार, हंसराज बडोले, संजय वाकडे, सदाशिव भांडेकर, प्रकाश खोब्रागडे, मनोज दामले, सुरेश सोनटक्के, सुरेश फुकटे, प्रशांत खोब्रागडे, ज्ञानेश्वर ढवगाये, विजय मुर्वतकर, वनमाली, अंबादे, बैस, निखली धार्मिक, रंजित बनकर, अक्षय वनमाली, विलास दाणे आदिं समेत सभी विरोधी पार्टी के अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने सहभाग लिया था.