जागरुकता: घर-घर जाकर टीकाकरण करना जरूरी,  संभावित तीसरी लहर को रोकना की करें तैयारी

    चामोर्शी. पिछले डेढ़ वर्षों से कोरोना महामारी से राज्य समेत जिले में पहली और दूसरी लहर ने हाहाकार मचाया है. अब तीसरी लहर की संभावना जताई जा रही है. जिससे फिर एक बार नागरिकों में तीसरी लहर का भय है. इस तीसरी लहर को रोकने के लिये स्वास्थ्य विभाग को सतर्कता बरतकर लोगों के घर-घर जाकर टीकाकरण करना बेहद जरूरी होने की बात कही जा रही है. जिले की सबसे बड़ी तहसील के रूप में चामोर्शी तहसील को पहचाना जाता है. 

    स्वास्थ्य कर्मियों ने दिया अहम योगदान

    तहसील में चामोर्शी व आष्टी में ग्रामीण अस्पताल है. वहीं कुनघाड़ा, आमगांव, कोनसरी, मार्कंडा क. घोट, रेगड़ी व भेंडाला में  स्वास्थ्य केंद्र समेत कुछ गांवों में स्वास्थ्य दल भी हैं. इन स्वास्थ्य केंद्रों में अधूरी स्वास्थ्य सेवा होने पर भी पहली और दूसरी लहर में स्वास्थ्य अधिकारी व कर्मचारियों ने कोनोरा कालावधि में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है.

    जिससे कोरोना का संक्रमण रोकने में मदद मिली. कोरोना महामारी के दौरान अस्पतालों में अधिकारी व कर्मचारियों की कमी, आवश्यक सुविधाएं, आक्सीजन बेड आदि सुविधाएं कम पड़ऩे के कारण कोरोना मरीजों को गड़चिरोली के जिला अस्पताल में रेफर करना पड़ रहा था.

    महामारी में कई ने गंवाई है जान

    जिले में कोरोना महामारी की पहली और दूसरी लहर के दौरान अनेक ने अपनी जान गंवाई है. 19 जुलाई तक जिले में 30514 बाधित मरीज होकर 29671 मरीज कोरोना मुक्त हुए हैं. वहीं अब तक जिले में 743 मरीजों की मृत्यु और 301603 इतनी जांच की गई.

    जिले में मरीज स्वस्थ्य होने की फीसदी 97.24 प्रश होकर मृत्यु की फीसदी 2.04 फिसदी है. तीसरी लहर की संभावना के मद्देनजर चामोर्शी तहसील में आवश्यक सेवा-सुविधाएं उपलब्ध करा देने की मांग तहसील के नागरिकों द्वारा की जा रही है.

    वैक्सीनेशन से रुकेगा संक्रमण

    अब कोरोना की संभावित तीसरी लहर आने की संभावना भी जताई गयी. मात्र कानपुर के आईआईटी के प्रोफेसर मनींद्र अग्रवाल ने तीसरी लहर को दूसरी लहर से कम जानलेवा होने का दावा कर अक्टूबर से नवंबर के दौरान तीसरी लहर आने की संभावना जताई जा रही है. पहली के बाद दूसरी और अब तीसरी लहर की संभावना के मद्देनजर स्वास्थ्य यंत्रणा तहसील के  गांव-गांव में जाकर कर्मचारियों के माध्यम से टीकाकरण समेत लोगों में जनजागृति करें, सभी नागरिकों का टीकाकरण होने पर कोरोना के संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी.