भाजपा ने किया बिजली बिल का दहन, राज्य सरकार का किया निषेध

गडचिरोली. राज्य के जनता को लॉकडाऊन कालावधि में आया व्यापक बिजली बील में सहुलियत देने का आश्वासन राज्य सरकार ने दिया था. मात्र राज्य के जनता को बिजली बील में कोई भी सहुलियत नहीं मिलनेवाली है, जिससे मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे इनके नेतृत्व की महाविकास आघाडी सरकार यह झुठी व अकार्यक्षम होने का आरोप करते हुए भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार 23 नवंबर को  गडचिरोली समेत विभीन्न जगह बिजली बिल दहन आंदोलन कर राज्य सरकार का निषेध किया. 

महाराष्ट्र राज्य में महाविकास आघाडी सरकार ने भारी भरकम बिजली बील संदर्भ में कोई भी सहुलियत न देते हुए जनता को समुचे बील भरने संदर्भ के आदेश जारी किए है. जिसे निषेध में भारतीय जनता पार्टी की ओर से सांसद अशोक नेते के नेतृत्व में स्थानीय इंदिरा गांधी चौक व पंचायत समिति के समिप बिजली बील का दहन कर आंदोलन किया गया. इस मसय विधायक डा. देवराव होली, नगराध्यक्ष योगिता पिपरे, जिला महामंत्री प्रमोद पिपरे, प्रशांत वाघरे, शहर अध्यक्ष मुक्तेश्वर काटवे, नप उपाध्यक्ष अनिल कुनघाडकर, पंस के उपसभापती विलास दशमुखे, विनोद देवोजवार, तहसील अध्यक्ष रामरतन गोहणे, जिप की समाजकल्याण सभापति मीना कोडाप, नप सभापति लता लाटकर, निता उंदीरवाडे, डेडुजी राऊत, दत्तु माकोडे, वच्छला मुनघाटे, वर्षा शेडमाके, करकाडे, राजू शेरकी, जनार्दन साखरे, सोमेश्वर धकाते, हेमंत बोरकुटे, सागर कुमरे, विजय शेडमाके समेत भाजपा के पदाधिकारी, कार्यकर्ते बडी संख्या में उपस्थित थे.