15 जुलाई से शुरू होंगे 8वीं से 12वीं की कक्षाएं, शिक्षा विभाग जुटा कार्य में

    • 295 स्कूलों की बजेगी घंटी

    गड़चिरोली. राज्य के कोरोनामुक्त क्षेत्र में कक्षा 8वीं से 12वीं तक की कक्षाएं 15 जुलाई से शुरू करने के लिए राज्य सरकार ने बुधवार को अनुमति दी थी. जिले के अधिकांश शहरी व ग्रामीण क्षेत्र कोरोनामुक्ति की ओर मार्गक्रम कर रहा है.  जिले के सभी के सभी यानी 295 माध्यमिक स्कूलें शुरू करने की तैयारी जिला परिषद के शिक्षा विभाग ने की है.

    सरकार ने जारी किया परिपत्रक

     स्कूलें शुरू करने संदर्भ में सोमवार को शिक्षा विभाग द्वारा जारी सरकारी परिपत्रक मंगलवार को स्थगित किए जाने से छात्र व अभिभावकों में संभ्रम की स्थिति निर्माण हुई थी. किंतु सरकार ने सरकारी परिपत्रक  में तकनीकी बदलाव करते हुए बुधवार 7 जुलाई को स्कूलें शुरू करने संदर्भ में फिर नए से सरकारी परिपत्रक जारी किया. जिस गांव में कक्षा 8वीं से 12 वी तक कक्षाएं शुरू करने हैं, उस गांव में एक माह पूर्व से एक भी कोरोना संक्रमित मरीज न हो. इसके साथ ही ग्राम पंचायत स्तर पर सरपंच के अध्यक्षता में समिति तैयार कर निर्णय लेने के निर्देश दिए गए हैं. विगत अनेक दिनों से कोरोना महामारी से बंद स्कूलें व महाविद्यालय फिर से शुरू करने की हलचलें स्थानीय प्रशासन से की जा रही है. 

    80 प्रश विद्यार्थी शिक्षा से वंचित

    कोरोना महामारी के दौरान राज्य सरकार ने स्कूले बंद कर ऑनलाइन शिक्षा का उपक्रम शुरू किया.   जिले के ग्रामीण क्षेत्र मं ऑनलाइन शिक्षा पूर्णत: विफल हुई. तकनीकी दिक्कतों के चलते जिले के करीब 80 फिसदी विद्यार्थी शिक्षा से वंचित रहे है. लॉकडाउन में पहले ही शिक्षा में खंड़िता आने से छात्रों का आगे फिर शैक्षणिक नुकसान न हो, इसके लिए सरकार ने 8 से 12 तक कक्षाएं कोरोना मुक्त गांवों में शुरू करने का घोषित किया. जिले के कोरोना स्थिती नियंत्रण में होने से जिले के सभी के सभी 295 माध्यमिक स्कूलों की कक्षाएं शुरू होने की संभावना है. इसके लिए स्थानीय प्रशासन आगे आया है. 

    गांव स्तर पर समिति 

    कोरोनामुक्त गांव के ग्राम पंचायत अंतर्गत आनेवाले गांव के कक्षा 8 से 12 तक कक्षाएं शुरू करने संदर्भ में अभिभावकों से चर्चा कर प्रस्ताव ले. ग्रापं स्तर पर सरपंच के अध्यक्षता में इसके लिए समिति गठित करने के निर्देश दिए हैं. समिति द्वारा स्कूल शुरू करने के पूर्व जिप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, जिलाधिकारी के मार्फत शिक्षकों का टीकाकरण करने संदर्भ में प्रयास करे तथा छात्र कोरोना संक्रमित पाए जाने पर तत्काल स्कूल बंद कर निर्जंतुकीकरण के साथ वैद्यकीय उपचार करने की सूचना दी है. 

    स्कूलों के लिए मार्गदर्शक सूचना 

    स्कूलों की कक्षाएं, स्वच्छतागृह, डेक्स, टेबल, खुर्चीया, वाहन इसकी निरंतर स्वच्छता व निर्जंतुकीकरण करने की जिम्मेदारी स्कूल प्रशासन की रहेगी. स्कूल के शिक्षक गांव में ही रहे या आवागमन करने के लिए स्वयं के वाहन का उपयोग करे, प्रतिदिन 2 सत्र में आयोजित होनेवाले स्कूल के उस कक्षा के स्वतंत्र आगमन तथा प्रस्थान का समयसारिणी व मार्ग स्कूल निश्चित करें. वहीं स्कूलो को इसका भी ध्यान रखना है जिसमें एक डेक्स पर 1 विद्यार्थी, एक डेक्स में 6 फीट की दूरी, एक कक्षा में   15 से 20 विद्यार्थी, सत्र व विषय का नियोजन, शिक्षक, शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को आरटीपीसीआर, रैपिड एंटीजन जांच अनिवार्य, छात्रों की उपस्थिती अभिभावकों के अनुमति पर निर्भर रहेगी. 

    1115 गांव कोरोनामुक्त 

    जिले के कुल 457 ग्राम पंचायत अंतर्गत 1,688 गांवों का समावेश है. इसमें से 573 गांवों को कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए हैं. वहीं कुल 1,115 गांव कोरोनामुक्त होने से यहां के सभी माध्यमिक स्कूलें शुरू होने वाली है. जिले में कुल 295 माध्यमिक स्कूलों का समावेश है. जिले का कोरोना संक्रमण नियंत्रण में होने से जिले के ग्रामीण क्षेत्र की सभी सकूल शुरू करने की तैयार स्थानीय प्रशासन ने की है. .

    बैठक से नियोजन-निकम 

    इस संदर्भ में जिप के माध्यमिक शिक्षणाधिकारी राजकुमार निकम ने कहा कि, सरकार के निर्देश के अनुसार जिले के कोरोनामुक्त ग्रामीण क्षेत्र में स्कूलें शुरू करने के लिए जिला परिषद के शिक्षा विभाग ने नियोजन शुरू किया है. जिले के माध्यमिक स्कूलों के प्रधानाध्यापकों की बैठके संपन्न हुई है. निर्देशानुसार स्कूल शुरू करने संदर्भ में संबंधित को सूचना दिए हैं. जिले के 295 माध्यमिक स्कूलें शुरू की जाने वाली है. स्थानीय प्रशासन द्वारा जायजा लिया जा रहा है.