निर्वाचन क्षेत्र का विकास पहली प्राथमिकता- सांसद ने जगाई आंस

  • जरूरी मांगों पर की चर्चा

सिरोंचा. सिरोंचा दौरे पर आये स्थानीय सांसद अशोक नेते ने जहाँ प्रशासनिक अमले की बैठक लेकर विभन्नि विभागों की जानकारियां ली वही जरूरी दिशा नर्दिेश देकर प्रशासनिक अमले को पूरी दक्षता के साथ कार्य करने की सुचना की. इस दौरान उन्होंने नवभारत से चर्चा में विभन्नि मुद्दों पर बात की. जिसमे तहसील क्षेत्र के प्रमुख मांगो पर उन्होंने अपने बातें रखी. तहसील क्षेत्र में बढ़ती बेरोजगारी, कपास उत्पादक किसानों की प्रमुख मांग कपास खरीदी केंद्र, सिंचाई परियोजनाएं, स्किल डेवलपमेंट पर पूछे गए सवालों पर नेते ने अपनी बात रखी है. 

सिरोंचा दौरे पर आए सांसद नेते ने तहसील क्षेत्र के कपास उत्पादक किसानों की लंबित मांग कपास खरीदी केंद्र (जिनिंग सेंटर) के संदर्भ में माना है कि अहेरी उपविभाग में कपास भारी तादाद में उत्पादित की जाने वाली उपज है. आज के हालातों में क्षेत्रीय कपास उत्पादक  किसानों को अपनी उपज को उचित मूल्य पर बेचने के लिए उपविभाग में जिनिंग सेंटर की आवश्यकता है. इस ओर प्रयास करने की आवश्यकता है. ताकि क्षेत्रीय किसान भाइयों को सुविधा मिल सके. जिससे उन्हें अपने उपज का उचित दाम मिल सके.

तहसील में सिंचाई परियोजनाओं को लेकर सांसद नेते ने कहा है कि वे पहले से ही सिंचाई परियोजनाओं के पक्षधर रहे है. जिले में आज के सैम में कुल पांच सिंचाई परियोजनाएं स्वीकृत है. जिनमे से एक लगभग बनकर तैय्यार है. बाकी का भी काम प्रारंभ होने को है. उसी तरह अहेरी उपविभाग में भी बहने वाली नदियों पर सिंचाई परियोजनाएं नर्मिति कर क्षेत्र को सुजलाम सुफलाम किया जा सकता है. जिससे क्षेत्रीय किसानों का आर्थिक उत्थान हो सके. इस पर वे कार्ययोजना बनाकर उससे धरातल पर उतारने का प्रयास करेंगे. ताकि उपविभाग के लोग भी आर्थक प्रगति कर सकें.

स्किल इंडिया को लेकर सांसद ने कहा है कि  जिले के दुरस्त आँचल एवं ग्रामीण तबका आज भी काम के अभाव में पलायन करने मजबूर है. जबकि स्थानीय लोगों को उपलब्ध प्राकृतिक संसाधनों के अनुसार प्रशक्षिति कर उन्हें स्वरोजगार के दिशा में अग्रेसीत किया जा सकता है. इस दिशा में प्रयास किये जायेंगे. ताकि लोगों को अपने क्षेत्र में रोजगार मिल सके. उन्हें काम के तलाश में अन्यत्र जाने की जरूरत ना हो.