नवरात्रोत्सव पर कोरोना का साया, आरमोरी की प्रतिकृतियों के नहीं होंगे दर्शन

  • सरकार ने जारी किये दिशा निर्देश

गडचिरोली. नवरात्री में जिले में खासकर आरमोरी में श्रद्धालुओं के लिए मेले का स्वरूप होता है। आरमोरी के विभिन्न नवदुर्गा उत्सव मंडल द्वारा विभिन्न राज्यों के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों की प्रतिकृति साकार की जाती है। जिससे 9 दिन श्रद्धालुओं के लिए उक्त जगह आकर्षण का केंद्र साबित होता है। इस वर्ष देश के साथ ही जिले में रौद्ररूप धारण करनेवाले कोरोना के संक्रमण से नवरात्र उत्सव को फीका कर दिया है। संक्रमण को को ध्यान में रखते हुए सरकार ने नवरात्र उत्स्व के लिए विशेष मार्गदर्शक सूचना जारी किए है।

शनिवार 17 अक्टूबर से कोरोना संक्रमण के  बीच नवरात्री उत्सव मनाया जानेवाला है। मात्र कोरोना वायरस के संक्रमण  ध्यान में रखते हुए प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी सार्वजनिक दुर्गा देवी मूर्ति की ऊंचाई सीमित रखने दुर्गाउत्सव पर मार्यादा है। नवरात्री उत्सव संदर्भ में जिलाधीश के विशेष मार्गदर्शक सूचना जारी किए जाने से श्रद्धालुओं का इस वर्ष उत्साह कम दिखाई देगा। सरकार के निर्देश के अनुसार सार्वजनिक मंडल के देवी की मूर्ति ऊंचाई 4 फुट  तो घरेलू देवी मूर्ति 2 फुट रखने के आदेश जिलाधीश ने दिये है।नवरात्री उत्सव सादगी से मनाने की  अपेक्षा होने से मूर्ति का विसर्जन संभवत घर में ही करे, संभव नहीं होने पर कृत्रिम जलप्रापत में विसर्जन करे। इस दौरान स्थानीय प्रशासन से समन्वय रखने की अपील जिलाधीश जिलाधिकारी दीपक सिंगला ने की है। जिलाधिकारी के आदेश के कारण सार्वजनिक नवरात्री उत्सव पर विशेष मर्यादाएं है। खासकर जिले के सुप्रसिद्ध नवरात्री उत्सव के रूप में आरमोरी शहर की ओर देखा जाता है। मात्र इस वर्ष कोरोना के कारण यहां के दुर्गा मंडल के पदाधिकारियों ने सादगी से नवरात्री उत्स्व मनाने का निर्णय लिया है। जिससे प्रथम बार इस वर्ष नवरात्री उत्सव के दौरान आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों के साथ प्रतिकृति टाले गए है। मात्र कोरोना संकट के कारण इस वर्ष केवल जिले के ही नहीं बल्की चंद्रपुर, भंडारा, गोंदिया इन पडोसी जिलों के साथ छत्तीसगढ, मध्यप्रदेश से आनेवाले लाखों श्रद्धालुओं को निराशा होगी।

इन बातों का पालन करने के निर्देश 

कोरोना संकट के कारण सरकार ने नवरात्री उत्सव के दौरान विशेष नियम और शर्ते लागू की गइ है । जिसके अनुसार गरबा, डांडिया आदि समेत अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन न करे, मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी मुहिम की जनजागृति करे, अन्य सार्वजनिक कार्यक्रमों को टालते हुए रक्तदान शिविर का आयोजन करे, आरती, भजन किर्तन आदि धार्मिक कार्यक्रम आयोजित करते समय भीड न हो इसका ध्यान रखे, ध्वनी प्रदूषण संदर्भ के नियम व प्रावधानों का पालन करे, देवी के आगमन, विसर्जन की रैली न निकाले, मंडप में एक समय में 5 से अधिक लोग इकट्ठा न होने के निर्देश दिये है। इस बीच बाजारों में सन्नाटा छाया है।

नियमों का करेंगे पालन- कात्रटवार 

जिलाधिकारी द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार इस वर्ष दुर्गा उत्सव मनाया जानेवाला है. जिससे अनेक सार्वजनिक दुर्गा मंडलों ने विशेष सतर्कता बरती है. दुर्गा उत्सव 9 दिन तक चलनेवाला है. जिससे श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए विशेष्ज्ञ सतर्कता बरती जा रही है. मंडल द्वारा श्रद्धालुओं के लिए सॅनिटायजर की व्यवस्था की गई होकर श्रद्धालुओं में सोशल डिस्टन्सींग का पालन करने विशेष सतर्कता बरती जानेवाली है. ऐसी जानकारी गडचिरोली शहर के नवकिर्ती दुर्गा मंडल के अध्यक्ष राजेश कात्रटवार ने दी.