school
File Photo

  • बाधित शिक्षकों के कारण अभिभावकों में दहशत

गडचिरोली. कोरोना महामारी कालावधि में करीब 8 माह बाद सोमवार 23 नवंबर से जिले 9 से 12 वीं कक्षा की स्कूले शुरू हुई है. आज पहले दिन जिले के 295 स्कूलों में से 272 स्कूल शुरू हुई. मात्र स्कूल में विद्यार्थियों की उपस्थिती को देखते हुए अभिभावकों में कोरोना की दहशत की स्थिती जिलेभर में दिखाई दी. प्रथम दिन स्कूल में केवल 5 प्रश ही विद्यार्थियों की उपस्थिती दिखाई दी. ऐसे में अनेक शिक्षकों के साथ शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से अभिभावकों में दहशत व संभ्रम की अवस्था है. वहीं विद्यार्थियों की सुरक्षा का भी गंभीर सवाल निर्माण हो रहा है. जिससे शिक्षा विभाग इसका कैसे सामना करता है. इस ओर नागरिको के साथ अभिभावकों का भी ध्यान लगा है.   

सरकार के आदेश के अनुसार सोमवार को जिले के करीब 272 स्कूल शुरू किए गए. कोरोना का बढता प्रादुर्भाव देखते हुए अनेक स्कूलों ने सतर्कता के तहत उपाययोजना चलाई है. स्कूल प्रबंधन समिति अंतर्गत शिक्षकों की विभीन्न समितियां स्थ्ज्ञापन किए गए है. निर्जंतुकीकरण किए गए 272 स्कूलें शुरू किए गए. इस दौरान सुबह के सत्र में शालेय विद्यार्थियों का तापमान, ऑक्सिजन लेव्हल गिना गया. एक डेक्स पर कए इस तरह सामाजिक दुरी रखकर बिद्यार्थियों की बैठक व्यवस्था की गई थी. मात्र जिले में कोरोना का बढता प्रादुर्भाव ध्यान में लेते हुए अभिभावकों ने विद्यार्थियों को स्कूल में न भेजने का निर्णय लेने का चित्र आज के कुल स्थिती पर से दिखाई दिया. आज शुरू किए गए जिले के स्कूल में औसतन 5 प्रशन विद्यार्थियों का पंजियन दर्ज किया गया. जिससे अभिभावक अब भी अपने बच्चों को स्कूल भेजने के मानसिकता में नहीं होने की स्थिती दिखाई दी. ऐसे में भी स्कूल शुरू करने के पूर्व शालेय शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की किए गए आरसीपीटीसीआर टेस्ट में करीब 116 कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से विद्यार्थियों की सुरक्षा को लेकर अभिभावकों में संदेह है. स्कूल के प्रथम दिन शिक्षणाधिकारी निकम ने विभीन्न स्कूलों को भेट देकर सुरक्षा के उपाययोजना बैठक व्यवस्था आदि संदर्भ में निरीक्षण किया. इस भेट के दौरान उन्होने विद्यार्थी तथा स्कूल प्रशासन के साथ संवाद किया. 

बाधितों में 68 शिक्षकों का समावेश 

जिलेभर के स्कूल शुरू करने के पूर्व जिला परिषद के शिक्षा विभाग द्वारा माध्यमिक कक्षाओं के शिक्षकों के साथ ही शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की कोरोना जांच की जा रही है. अबतक कुल 3966 शिक्षक, शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की जांच की गई होकर इसमें से 116 शिक्षक व कर्मचारी पॉजिटिव आए. जिसमें 68 शिक्षकों का समावेश है. वहीं 41 शिक्षकेत्तर कर्मचारी तथा 7 मुख्याध्यापकों भी समावेश है. 

भय को करेंगे दूर -निकम

कोरोना प्रादुर्भाव में सरकार के निर्देशों के अनुसार सभी शर्ते व नियमों का पान कर सोमवार से जिलेभर की माध्यमिक स्कूले शुरू की गई है. प्रथम दिन विद्यार्थियों का अल्प प्रतिसाद मिला. मात्र इसमें शहर की तुलना में ग्रामीण क्षेत्र में विद्यार्थियों को लक्षणीय उपस्थिती थी. मुख्याध्यापक शिक्षकों के माध्यम से सभा का आयोजन कर स्कूल में किए गए उपाययोजना की जानकारी अभिभावकों को देकर उनके भय को दूर करने का प्रयास करे, ऐसा आह्वान शिक्षणाधिकारी (माध्य.) आर. पी. निकम ने किया है.