वीसी द्वारा आयोजित सभा को पार्षदों का विरोध

  • नियोजित स्थल पर सभा ले अन्यथा आंदोलन

गडचिरोली. नगर परिषद गडचिरोली द्वारा 14 सितंबर को स्थानीय पंडित जवाहरलाल नेहरू नप स्कूल में आमसभा का आयोजन किया गया था. इस संदर्भ का पत्र 4 सितंबर को सभी पार्षदों को दिया गया था. मात्र इस बिच नप के मुख्याधिकारी द्वारा 11 सितंबर को फिर से पत्र जारी कर उक्त सभा वीडियो कॉन्फरन्सिंग द्वारा लेने की सूचना दी है। वीसी द्वारा आयोजित इस सभा को नप के 15 पार्षदों ने विरोध दर्शाया है। उक्त सभा पूर्व नियोजित स्थल पर लेने की मांग इन पार्षदों ने की अन्यथा सभा पर बहिष्कार र आंदोलन की चेतावनी पत्र परिषद में दी है।

पत्रपरिषद में पार्षदों ने कहां कि, करीब 8 माह बाद 14 सितंबर को नगर परिषद की आमसभा का पंडित जवाहरलाल नेहरू नप स्कूल के सभागृह में आयोजन किया गया। इस सभा संदर्भ में सभी पार्षदों को 4 सितंबर को ही पत्र जारी किए गए। इस सभा में विभिन्न 50 विषयों पर चर्चा कर प्रस्ताव लेने है। इसके साथ ही करीब 150 विषयों पर चर्चा करनी है। इसमें कुछ विवादग्रस्त तो कुछ वित्तीय विषय के विषय है। इस बीच सभा के 3 दिन पूर्व 11 सितंबर को नगर परिषद के मुख्याधिकारी ने पत्र जारी कर उक्त सभा वीडियो कॉन्फरन्सिंग द्वारा लेने की सूचना की है। पत्रपरिषद में नप के निर्माण सभापति आनंद श्रृंगारपवार, शिक्षा सभापति रितु कोलते, पार्षद भुपेश कुलमेथे, गुलाब मडावी, संजय मेश्राम, रमेश चौधरी, वर्षा बट्टे, अनिता विश्रोजवार, रंजना गेडाम, पुजा बोबाटे, मंजूषा आखाडे आदि उपस्थित थे. 

कोरोना संक्रमण के कारण वीसी द्वारा सभा-पिपरे

इस संदर्भ में नगराध्यक्ष योगिता पिपरे से पुछने पर उन्होने बताया कि, नप के पार्षदों की मांग पर ही 14 सितंबर को आमसभा का आयोजन किया गया। मात्र कोरोना के बढते संक्रमण के मद्देनजर जिला प्रशासन द्वारा दिए गए पत्र में ऑनलाईन सभा लेने की सूचना दी है। जिसके अनुसार वीडियो कॉन्फरन्सिंग द्वारा नगर परिषद की आमसभा आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। कोरोना से बचाव हेतु प्रशासन अनेक उपाययोजना कर रहा है। इसी के मद्देनजर वीसी द्वारा सभा आयोजित करने में अनुचित क्या है? ऐसा सवाल पुछते हुए नगराध्यक्ष पिपरे ने कुछ पार्षदों के आरोप निराधार होने की बात कहीं। वहीं शहर के विकासात्मक मुद्दों को लेकर 14 सितंबर की सभा वीडियो कॉन्फरन्सिंग द्वारा होगी, ऐसी बात भी उन्होने कहीं है।