मकर संक्रांत पर धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं की भीड

गड़चिरोली. मकर संक्रात यह उत्सव यु तो महिलाओं का माना जाता है. लेकिन उस उत्सव में युवाओं समेत नागरिक पंतग उडाकर इस उत्सव का आनंद लेते है. साथ ही अनेक लोग धार्मिक स्थलों में जाकर पुजा अर्चना समेत नदी में स्नान करते है. गुरूवार को मकर संक्रांत के उपलक्ष्य में विदर्भ की काशि के रूप में पहंचाने जानेवाले मार्कंडा देव समेत अन्य धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं की भीड दिखाई दी. दुसरी ओर महिलाएं एक दुसरे के घर जाकर तथा हल्दी कुमकुम कार्यक्रम लेकर मकर संक्रांती की शुभकामनाए दी.

इस अवसर पर शहर समेत ग्रामीण आचल में अनेक युवा पंतग उडाते दिखाई दिए. आज मकर संक्रांत के उपलक्ष्य में वाण लेने के लिए शहर के बाजार में महिलाओं की भीड दिखाई दी. वहीं दुसरी जिले के तीर्थस्थल मार्कंडा, चपराला, भंडारेश्वर, कालेश्वर आदी धार्मिक स्थलों पर अनेक नागरिकों ने पूजा-अर्चा की. तथा धार्मिक स्थलों के नदियों में सुबह डुबकी लगाई.

कोरोना के चलते प्रशासन ने धार्मिक कार्यक्रम में नियम, शर्त के अनुसार अनुमति दी है. जिससे आज धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं की भीड दिखाई दी. शहर नजीक के वैनगंगा नदी किनारे बोरमाला घाट पर आज सुबह से से शहर के युवक, पुरूषों ने स्नान के लिए भीड की थी. अनेक नागरिक, युवक नदी किनारे आकर नाश्ता व भोजन लेकर पहुंचे.