electricity bill
File Photo

धानोरा. कोरोना संक्रमण के कारण बिजली वितरण विभाग अंतर्गत विगत 3 माह का घरेलू बिजली बिल भारी भरकम आंकड़ों में ग्राहकों को भेजा गया है. ऐसे में बिल का भुगतान कैसे करें, यह प्रश्न ग्राहकों के समक्ष निर्माण हो रहा है. कोरोना महामारी के समय में तहसील के मजदूर, किसान, मेहनत मजदूरी करने वाले लोगों के पास काम नहीं है.

ऐसे स्थिति में भी भारी भरकम बिजली बिल आने से किसान, कामगार चिंताओं में डूबे हैं. मजदूर, किसानों का कोरोना कालावधि में 3 माह का बिजली बिल माफ करने की मांग राजनीतिक दल के नेता, पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, ऊर्जामंत्री की ओर ज्ञापन द्वारा की गई है. इस पर बिजली विभाग की ओर से कोई कार्रवाई नहीं होते दिखाई दे रही है. 

घर-घर घूमकर बिल भरने का फर्मान 
कोरोना के कारण लॉकडाउन में वृद्धि हो रही है. जिससे तहसील में बेरोजगारी की समस्या बढ़ी है. रोजगार नहीं होने से पैसों की किल्लत महसूस हो रही है. ऐसे में भारी भरकम बिजली बिल देने से आम नागरिकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. बिजली वितरण कंपनी कर्मचारी तहसील में घर-घर जाकर बिजली बिल फरने का फर्मान छोड़ जिससे ग्राहकों में बिजली कनेक्शन कटौती की दहशत निर्माण हुई है.