corona

    गड़चिरोली. जिले में कोरोना महामारी नियंत्रण में आयी है. कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या नियंत्रण में होकर मरीज स्वस्थ्य होने का प्रमाण बढ़ा है. हालांकि करीब 24 दिनों के बाद आज 17 जुलाई को जिले में 2 कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मृत्यु दर्ज हुई है. वहीं दिनभर में 12 नए संक्रमित भी पाए गए हैं.

    अब जिले में केवल 124 कोरोना मरीज सक्रिय हैं. यह बात राहतभरी है. किंतु कोरोना की तीसरी लहर के यह संकेत होने की बात कही जा रही है. जिससे आगामी 3 से 4 माह कोरोना के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं. जिससे प्रशासन द्वारा पाबंदियों में दी गई शिथिलता के कारण नागरिकों का मुक्त विचरण शुरू है. ऐसे में जिले के नागरिकों को सतर्कता बरतने की आवश्यकता निर्माण हुई है. 

    कोरोना की दूसरी लहर में राज्य के अनेक जिलों की स्थिती गंभीर हुई थी. ऐसे में जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के व्यापक प्रयासों से जिले में कोरोना की दूसरी लहर पर काबू पाने में सफलता मिली. विगत 2 माह के जिले के कोरोना के आंकड़ों पर नजर ड़ाले तो यह बात सामने आती है. दूसरी लहर में शुरुआत के समय में राज्य के अन्य जिले की तरह गड़चिरोली जिले में भी मृत्यु की संख्या बढ़कर तथा संक्रमितों में वृद्धि होने से यह बात चिंताजनक थी.

    किंतु उसके बाद जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के निरंतर प्रयास से कोरोना को रोकने में सफलता मिली. युद्धस्तर पर जनजागृति व टीकाकरण को गति दिए जोन से सहीं मायने में जिले में कोरोना पर नियंत्रण प्राप्त हुआ. 25 जून को जिले में जिले में कोरोना से मृत्यु होने का अंतिम पंजीयन किया गया था. उसके करीब 24 दिनों के बाद आज 17 जुलाई को जिले में 2 महिला मरीजों की कोरोना से मृत्यु हुई है. 

    टीकाकरण की गति बढ़ाने की आवश्यकता 

    जिले में अब तक 3 लाख के आसपास टीकाकरण हुआ है. जिले की जनसंख्या ध्यान में लेते हुए यह केवल 31 प्रतिशत है. इसमें 2 लाख 46 हजार 7 नागरिकों ने पहला टीका तो 47 हजार 313 नागरिकों ने दूसरा टीका लिया है. जिससे जिले में टीकाकरण की गति बढ़ाने की आवश्यकता है. जिले की स्थिति नियंत्रण में है, किंतु विशेषज्ञों द्वारा तीसरी लहर की चेतावनी के बाद जिले में भी सतर्कता बरतना आवश्यक है. 

    जिले में कोरोना की स्थिति 

    जिले में आज शनिवार को चामोर्शी तहसील के किष्टापुर निवासी 42 वर्षीय व अहेरी तहसील के आलापल्ली निवासी 73 वर्षीय  ऐसे 2 महिलाओं की कोरोना के चलते मृत्यु हुई है. दिनभर में 14 मरीज कोरोनामुक्त हुए हैं, तो 12 नए मरीज पाए गए हैं. वहीं नए संक्रमितों में गड़चिरोली तहसील के 3, चामोर्शी 5, कोरची, कुरखेडा, सिरोंचा, देसाईगंज तहसील के प्रत्येकी 1 मरीज का समावेश है.

    वहीं आज कोरोनामुक्त हुए 14 मरीजों में गड़चिरोली तहसील के 1, चामोर्शी 6, मुलचेरा 3, कोरची व देसाईगंज तहसील के प्रत्येकी 2 व्यक्तियों का समावेश है. धानोरा, आरमोरी, मुलचेरा, अहेरी, एटापल्ली व भामरागड़ इन 6 तहसीलों में आज एक भी मरीज नहीं मिला है. 

    मरीज स्वस्थ्य होने का प्रमाण 97.16 प्रश 

    अब तक जिले के 30 हजार 499 मरीजों में से 29 हजार 632 मरीज कोरोनामुक्त हुए हैं. अब तक कोरोना मृत्यु हुए नागरिकों की संख्या 743 पर पहुंची है. फिलहाल 124 सक्रिय मरीजों पर उपचार शुरू है. जिले में कोरोना मरीज स्वस्थ्य होने का प्रमाण 97.16 प्रश, सक्रिय मरीजों का प्रमाण 0.41 प्रश तो मृत्यूदर 2.44 प्रश हुआ है. 

    1116 गांव कोरोनामुक्त 

    जिले में 457 ग्राम पंचायत अंतर्गत करीब 1688 गांवों का समावेश है. इसमें से 574 गांवों में कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए थे. इसमें से चामोर्शी तहसील के सर्वाधिक 78 गांवों में मरीज मिले है. वहीं 1116 गांव कोरोना मुक्त है. जिले के 80 प्रश से अधिक गांव कोरोनामुक्त होने से जिले की कोरोना स्थिती नियंत्रण में है. यह बात दिखाई देती है. प्रशासन ने अनेक पाबंदियों में शिथिलता प्रदान की है. जिससे नागरिक बेपरवाह दिखाई दे रहे हैं. जिससे कोरोना का फिर से आमंत्रण मिल सकता है. वहीं कोरोना के तिसरे लहर की संभावना व्यक्त हो रही है. जिससे जिला प्रशासन को विशेष सतर्कता बरतने की आवश्यकता व्यक्त हो रही है.