कोरोना को राई का पहाड़ न बनाए, सतर्कता बरतें- डा. सालवे

  • कुडकवाही में की स्वास्थ्य विषयक जनजागृति

गडचिरोली. फिलहाल समुचे विश्व में कोरोना की दहशत निर्माण हुई है. किंतू कोरोना से न घबराते हुए आहार, विहार का पालन कर आवश्यक सतर्कता बरतनी चाहिए. सोशल डिस्टन्सींग का पालन कर, नियमित मास्क का उपयोग करे. कोरोना को राई का पहाड न बनाते हुए आवश्यक सतर्कता बरते, ऐसा आह्वान डा. सालवे नर्सिंग कॉलेज चातगाव के  अध्यक्ष व महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस डॉक्टर सेल के महासचिव डा. प्रमोद सालवे ने किया. 

कोरोना प्रादुर्भाव को रोकने के लिए  स्टुडन्ट नर्सेस असोसिएशन डा. सालवे नर्सिंग कॉलेज चातगाव की ओर से  धानोरा तहसील के कुडकवाही में मंगलवार 4 अगस्त को स्वास्थ्य विषयक जनजागृती कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इस समय मार्गदर्शन करते हुए वे बोल रहे थे. आयोजित कार्यक्रम की सफलता के लिए अजय चांग, रोशन करंडे, लखन साखरे, संतोष वड्डे, रामदास चांग, जिजा चांग, महानंदा मेश्राम, पिंकी दुमाने, परबता चांग, सुलोचना मेश्राम, लिला चांग, श्रावण मेश्राम, राजू गेडाम, देवराव मेश्राम, भाऊराव मेश्राम आदि ने प्रयास किया. 

रोग प्रतिकारक शक्ती बढाए
विश्व में कोरोना का प्रादुर्भाव निरंतर बढ रहा है. कोरोना पर अबतक कोई दवा अथवा टिका उपलब्ध नहीं हुआ है. बढते प्रादुर्भाव के चलते जनता में दहशत निर्माण हुई है. लॉकडाऊन के चलते उद्योगधंदे ठप्प होकर बेरोजगारी, भुखमरी बढी है. सरकारी कार्यालय ठप्प हुए है. लोग किसी कार्य हेतु जाने पर उन्हे कोरोना का नाम बताकर भगाया जाता है. इन सभी कारणों से जनता में व्यापक रोष निर्माण हो रहा है. ऐसे स्थिती में जनता को भाविनक आधार देकर कोरोना से बचाव करने हेतु उक्त कार्यक्रम का आयोजन डा. सालवे नर्सिंग कॉलेज चातगाव की ओर से किया गया था. कोरोना के संकट में रोग प्रतिकारक शक्ति बढाने की बात यह एकमात्र उपाय होकर यह बाते शास्त्र व संस्कृति में हजारों वर्षो से बताई गई है. अपने संस्कृति में बताए गए प्रणाली का पालन करने पर कोरोना नहीं नहीं बल्की कोई भी बिमारी से रहीत रहा जा सकता है, ऐसी बात भी डा. प्रमोद सालवे ने कहीं. 

महिलाओं को आगे आने की जरूरत -त्रिसुले
जिस तरह परिवार की संपूर्ण जिम्मेदारी व बच्चों को संस्कारीत करने का कार्य घर की महिला करती है. उसी के भांती कोरोना का प्रादुर्भाव टालने के लिए महिलाओं को आगे आने की जरूरत है. अपने घर से कारोनो को कोसो दूर रखना है, तो महिलाएं घर के सदस्यों को मास्क का इस्तेमाल करने, सोशल डिस्टन्सींग का पालन करने व आहर का उचित सेवन करने संदर्भ में ध्यान दे, इस माध्यम से कोरोना को भगाने में देर नहीं लगेगी. ऐसी बात स्टुडन्स नर्सेस असोसिएशन की अध्यक्ष अबोली त्रिसुले ने इस समय कहीं.