For the demand of arrears, fuel bill, pension

आंदोलन के बाद विभिन्न मांगो का ज्ञापन जिप सीईओ के माध्यम से सरकार को भेजा है।

  • जिप के समक्ष अंगणवाडी कर्मचारियों ने दिया धरना 

गडचिरोली. अंगणवाडी कर्मचारियों को पूर्व प्राथमिक शिक्षिका का दर्जा देकर न्यूनतम वेतन व सामाजिक सुरक्षा लागू करने की प्रमुख मांग के साथ प्रलंबित मांगो की पूर्ति के लिए अंगणवाडी कर्मचारियों ने जिप के समक्ष धरना आंदोलन किया। आंदोलन के बाद विभिन्न  मांगो का ज्ञापन जिप सीईओ के माध्यम से सरकार को भेजा है। 

ज्ञापन में आईसीडीएस का निजीकरण न करे, अंगणवाडी कर्मचारियों को पोषण सप्ताह, अमृत आहार योजना, गृहभेंट, कुपोषण निर्मूलन व अंगणवाडी के अन्य कार्य करने पडते है। जिससे कोविड सर्वेक्षण व मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी मुहिम का कार्य न दे, कर्मचारियों का बकाया यातायात भत्ता व ईंधन बिल दे, सेवानिवृत्त अंगणवाडी कर्मचारियों को सेवानिवृत्ती का लाभ दे, मिनी अंगणवाडी सेविका को नियमित सेविका के बराबर मानधन दे, अमृत आहार का मानधन हल करे, बेबीकिट समेत अन्य साहित्य अंगणवाडी को दे, आरमोरी तहसील के सेविका व मदतनीस के पद भरे, मानधन की आधी राशी पेंशन के रूप में दे, प्रत्येक अंगणवाडी केंद्र के लिए स्वतंत्र इमारत निर्माण करे, कर्मचारियों के बिमारी में पगारी अवकाश दे आदि मांगो का समावेश है।

आंदोलन में आयटक के अध्यक्ष देवराव चवले, सचिव जगदिश मेश्राम, निर्माण संगठना के अध्यक्ष डा. महेश कोपुलवार, विनोद झोडगे, अंगणवाडी संगठना की अध्यक्ष राधा ठाकरे, रजनी गेडाम, जलील पठाण व अंगणवाडी सेविका उपस्थित थे।