सुरजागड प्रकल्प से स्थानीयों को रोजगार दे

  • अन्यथा युवक कांग्रेस ने दी आंदोलन की चेतावनी

गडचिरोली. उद्योगविरहीत जिले के रूप में गडचिरोली को लगा कलंक मिटाने की क्षमता सुरजागड लोह प्रकल्प में है. जिससे इस प्रकल्प का कार्य शुरू करने के पूर्व जिले के युवकों को मौके देकर ही कार्य शुरू करे, अन्यथा युवक कांग्रेस की ओर से तीव्र आंदेालन किया जाएगा, ऐसी चेतावनी युवक कांग्रेस के जिलाध्यक्ष महेंद्र ब्राम्हणवाडे ने दिया है. 

जिले के एटापल्ली तहसील के सुरजागड लोह प्रकल्प की लिज सरकार ने विभीन्न कंपनियों को दी है. इसमें से एक कंपनी ने इस दौरान के समय में उत्खनन शुरू किया था. उक्त कंपनी ने स्थानीयों को रोजगार देने के लिए तकनिकी शिक्षा देने की तैयारी शुरू की थी. इसके पश्चात कोनसरी में प्रकल्प शुरू करने के लिए जमीन खरीदी करने की प्रक्रिया शुरू की. मात्र, इसे व्यापक कालावधि बितने के बावजूद अबतक प्रकल्प का निर्माण नहीं हुआ. जिससे उक्त कंपनी व तत्कालीन सरकार की ओर से केवल स्थानीयों को झांसा दिए जाने का आरोप भी ब्राम्हणवाडे ने किया है.

कांग्रेस की ओर से इस दौरान के कालावधि में केंद्र सरकार की ओर ‘रोजगार दो रोजगार’ इसके लिए आंदोलन खडा किया था. इसकी पूर्ति करने के लिए जिले के रोजगार के लिए आशास्थान होनेवाले सुरजागड प्रकल्प से बडी मात्रा में रोजगार  निर्मिती हो सकती है. इस माध्यम से स्थानीय युवकों को रोजगार उपलब्ध हो सकता है. मात्र बिते अनेक वषो र्से जिले के युवकों को झांसा देने का कार्य शुरू है. यह बात ध्यान में लेकर युवक कांग्रेस की ओर से सुरजागड लीज मिले कंपनी की ओर ‘रोजगार दो रोजगार’ ऐसा आंदोलन खडा करने की चेतावनी युवक कांग्रेस की ओर से दिया गया है. 

जिले के खनिज संपदा का उत्खनन कर बाहर जिले में ले जाकर प्रक्रिया की जा रही है. जिससे जिले के खनिज पर बाहरी जिले के युवकों को रोजगार उपलब्ध हो रहा है. कंपनी द्वारा उद्योगविरहीत गडचिरोली जिले की पहचान वैसी कायम रखने का प्रयास शुरू किया है, मात्र यह प्रयास युवक कांग्रेस निरस्त करेगी, ऐसी चेतावनी युवक कांग्रेस के जिलाध्यक्ष महेंद्र ब्राम्हणवाडे ने दी है.