नुकसानग्रस्त किसानों को न्याय दें, विधायक गजबे ने की जिलाधिकारी की ओर मांग

  • देसाईगंज में जिलाधिकारी के साथ चर्चा

देसाईगंज. सरकार की ओर से नुकसानग्रस्त खेती के पंचनामे हुए. किंतु अभी तक अनेक किसानों को नुकसान मुआवाजा से वंचित रहना पड रहा है. इस समस्या की ओर ध्यान देकर किसानों को न्याय दे, ऐसी मांग विधायक कृष्णा गजबे ने जिलाधिकारी दीपक सिंगला के साथ हुए चर्चे के दौरान की है.

चालू वर्ष जिले के किसानों के लिए निराशाजनक साबित हुआ है. उत्पन्न था, लेकिन कोरोना कालावधि में खेतमाल को भाव नहीं है. खेतमाल को भाव होने पर व उपज कम तथा धान उत्पादक किसानों को शुरूआत में पानी की कमी, उसके बाद बाढ का फटका लगा. इससे उबरने पर वहीं फसलों पर कीटों का प्रादुर्भाव हुआ. उसके बाद बेमौसम बारिश से फसले पानी में डुबी. ऐसे कई संकटों से किसानों को सामना करना पडा. तथा धान महामंडल के चाजक शर्तों से किसानों को धान बिक्री के लिए बडी परेशानीओं का सामना करना पड रहा है. जिससे 10 दिसंबर को जिलाधिकारी दीपक सिंगला देसाईगंज के तहसील कार्यालय में आने पर, विधायक गजबे ने उनकी भेट लेकर जिले के किसानों पर आए हुए विभिन्न समस्याओं पर चर्चा की.

विभिन्न समस्या की अवगत

आधारभूत धान खरीदी केंद्र पर खरीदी मर्यादा 9.60 से बढाकर पट्टेधारकों को पट्टे ऑनलाईन न होने से फेडरेशन व आदिवासी महामंडल को धान नहीं बेच सकते. जिससे किसानों में आक्रोश निर्माण हुआ है. एक, दो दिनों में संबंधित अधिकारियों को इस संदर्भ में आदेश देंगे, गोसीखुर्द के बाढपिडित किसानों के हुए नुकसान का निरीक्षण कर कुछ किसानों का धान उचित होकर वे धान फेडरेशन व आदिवासी महामंडल खरीदी करे, ऐसी सूचना जिलाधिकारी सिंगला ने इस समय की. धान खरीदी के लिए कुछ पुराने केंद्र बंद होने से धान खरीदी बिक्री के लिए किसानों को परेशानी सहन करनी पड रही है. कोरची, कुरखेडा, धानोरा का धान खरीदी केंद्र तत्काल शुरू किया जाए, ऐसी विभिन्न समस्याए जिलाधिकारी के निदर्शन में लाकर दी. इस समय उपजिलाधिकारी तथा उपविभागीय अधिकारी धनाजी पाटील उपस्थित थे.