अतिदुर्गम कोरला, कर्जेली में शतप्रतिशत टीकाकरण, तहसीलदार सय्यद के प्रयास से स्थानीय भाषा में जनजागृति

    सिरोंचा. तहसील के अतिदुर्गम, संवेदनशिल व छत्तीसगढ राज्य के सिमा से सटे गांवों में कोरोना टीकाकरण को लेकर ग्रामीणों में गलतफहमी होने से नागरिक टीका लगाने आगे नहीं आ रहे थे. यह बात ध्यान में आते ही तहसीलदार सय्यद ने स्वयं आगे आकर नागरिकों में उनके स्थानीय भाषा में कोरोना संदर्भ में जनजागृति की. जिसके तहत अतिदुर्गम क्षेत्र कोरला, कर्जेली गांव में शिविर के माध्यम से शतप्रतिशत टीकाकरण किया गया. 

    तहसील के अतिदुर्गम, संवेदनशील तथा छग की सीमा पर बसे अनेक गांवों में कोरोना टीका लगाने नागरिक आगे नहीं आ रहे थे. कोविड टीकाकरण संदर्भ में नागरिकों में अनेक गलतफहमीयां निर्माण हुई थी. सरकार व प्रशासन की ओर से अनेक बार कोरोना टीका लेने संदर्भ में जनजागृति की गई. फिर भी सिरोंचा तहसील के छत्तीसगड की सीमा से सटे अतिसंवेदनशील कोरला, कर्जेली में नागरिक टीकाकरण के लिए आगे नहीं आए.

    जिससे तहसीलदार सय्यद ने स्वयं आगे आकर इस दुर्गम क्षेत्र के गांवों में जाकर नागरिकों को उनके स्थानीय भाषा में कोविड संदर्भ में मार्गदर्शन करते हुए जनजागृति की गई. 

    ग्रामीणों को समझाया टीकाकरण का महत्व 

    राजस्व विभाग व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों द्वारा इन दोनों दुर्गम गांव में स्वास्थ्य शिविर लिया गया. इस दौरान तहसीलदार सय्यद ने स्वयं गांव के नागरिकों को स्थानीय (गोंडी, माडिया, तेलगू) भाषा में कोविड संदर्भ में जनजागृति कर उनके मन की गलतफहमी दूर की. जिससे नागरिकों में मनपरिवर्तन होकर टीकाकरण के लिए तैयार हुए. जिससे दोनों गांवों के नागरिकों के लिए शिविर का आयोजन किया गया था. 

    टीकाकरण शिविर को रामेशगुडम ग्रापं के सरपंच कौशल्या आत्राम, उपसरपंच सुकाय्या मडावी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र झिंगानूर के वैद्यकीय अधिकारी पी. जी. मारगोनवार, एएनएम पेद्दापेल्ली, सिएनएम डी. विश्वास, एस. टी. भोयर, आशावर्कर किष्टुबाई मडावी, प्राथमिक शिक्षक हुमने आदि ने प्रयास किया. इस दौरान तहसीलदार एच. एस. सय्यद, नायब तहसीलदार प्रकाश पुप्पलवार, असरअल्ली के  मंडल अधिकारी पाहुलबुद्दे, पटवारी डोंगरे यह प्रमुखता से उपस्थित थे. 

    स्थानीय निवासी कर्मीयों की मिली मदद 

    27 जून को अतिसंवेदनशील कोरला व कर्जेली गांव में लिए गए शिविर में 200 नागरिकों ने पहला टीका लगाया. जिला परिषद स्कूल के शिक्षक लक्ष्मीस्वामी चेडे, निमाय्या आत्राम यह मुलत कोरला गांव के निवासी होने से उनके सहयोग से कोरला तथा कर्जेली का कोविड टीकाकरण कैम्प सफल होने की जानकारी सिरोंचा के तहसीलदार एच.एच. सय्यद ने दी.