bjp

    गडचिरोली. मुंबई से 100 करोड का टारगेट मांगनेवाले गृहमंत्री अनिल देशमुख का इस्तीफा लिया जाए ऐसी घोषणाबाजी करते हुए स्थानीय इंदिरा गांधी चौक में भारतीय जनता पार्टी की ओर से आज महाविकास आघाउी का निषेध किया गया. महाविकास आघाडी नही तो ‘महावसुली आघाडी’ होने की टिप्पणी करते हुए गृहमंत्री के साथ मुख्यमंत्री का भी इस्तीफा भाजपा ने मांगा है.

    मुंबई के पूर्व  पुलिस आयुक्त परबीरसिंह ने गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे को पत्र भेजा है. इस पत्र में राज्य के गृहमंत्री ने सचिन वाझे को माह में 100 करोड रूपयों की वसूली करने का टारगेट दिया था. ऐसा गंभीर आरोप करने से राज्य का माहौल गरमाया है. गडचिरोली जिला भाजपा की ओर से सडक पर उतरकर गृहमंत्री अनिल देशमुख का इस्तीफा लिया जाए ऐसी मांग की है.

    इस समय सांसद अशोक नेते, विधायक डा. देवराव होली ने मार्गदर्शन किया. मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंग ने मुख्यमंत्री को दिए पत्र के अनुसार गृहमंत्री पर किए आरोप में सच्चाई है और  यह मामला महाराष्ट्र राज्य के सन्मान का हनन करनेवाला है. दिनोंदिन मंत्रिमंडल् के मंत्रियों पर होनेवाले आरोप से महाराष्ट्र की प्रतिमा मलिन हो रही है. 

    गृहमंत्री अनिल देशमुख जैसे जिम्मेदार मंत्री पर पुलिस आयुक्त ने आरोप करना बडी शरम की बात होने की टिप्पणी  करते हुए सभी प्रकार की नैतिक जिम्मेदारी स्विकारते हुए गृहमंत्री अनिल देशमुख व राज्य के मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे ने इस्तीफा दे ऐसी मांग की है. साथ ही जोरदार नारेबाजी करते हुए महाविकास आघाडी का भाजपा की ओर से निषेध किया है.

    आंदोलन में नप अध्यक्ष योगिता पिपरे, जिप समाज कल्याण सभापति रनजिता कोडापे, भाजप जिला  महामंत्री गोविंद सारडा, प्रमोद पिपरे, रवी ओल्लालवार, प्रशांत वाघरे,  भाजपा प्रदेश कार्यकारीणी सदस्य रमेश भुरसे, भाजपा  उपाध्यक्ष भारत खटी, आदिवासी आघाडी प्रदेश सरचिटणीस प्रकाश गेडाम, जिला प्रशिक्षण प्रमुख अनिल पोहणकर, जिला युवा मोर्चा अध्यक्ष चांगदेव फाये, युमो जिला महामंत्री मधुकर भांडेकर, ज्येष्ठ नेता सुधाकर येनगंधलवार, पार्षद केशव निंबोड, अल्का पोहनकर, भाजपा नेता सरपंच भास्कर बुरे, युवा नेता सागर कुंभरे, हर्षल गेडाम, महिला आघाडी नेता निलीमा राऊउ, ज्योती बागडे समेत पदाधिकारी व कार्यकर्ता बडी संख्या में उपस्थित थे.