Leopard found in Gilgav forest complex

तहसील के कुनघाडा रै.-पोटेगाव मार्ग पर के गिलगाव जंगल परिसर में भेंडी कन्हार गांव की ओर जानेवाले सडक पर ढोरफोडी श्मशान भूमि के पास तेंदुएं के पगमार्क दिखाई देने से नागरिकों में दहशत फैल गयी है।

चामोर्शी. तहसील के कुनघाडा रै.-पोटेगाव मार्ग पर के गिलगाव जंगल परिसर में भेंडी कन्हार गांव की ओर जानेवाले सडक पर ढोरफोडी श्मशान भूमि  के पास तेंदुएं के पगमार्क दिखाई देने से नागरिकों में दहशत फैल गयी है।

इससे पूर्व तेंदुए ने रविंद्र यरूमालवार के मवेशियों के गौशाला में घुसकर बकरी को निवाला बनाया था, वहीं शामशहा आलम की गाय तथा सखाराम चॅफुलवार इनके मालिकाना बछडे का भी शिकार किया था।

गांव के पास के जंगल में तेंदुएं के पगमार्क दिखाई देने से यह साफ हो गया है कि गांव के पास से हिंसक जानवर आ रहे है। इन दिनों खेतों में धान, सोयाबीन की फसल खडी है। किसान तथा मजदुरों को फसलों की देखरेख और उगी घास को साफ करना पडता है जिससे फसलों की उचित बाढ हो सके। किंतु पगमार्क दिखाई देने से नागरिकों में दहशत फैली है इसलिए वनविभाग से बंदोबस्त की मांग की है।