150 गांव में चलाया ‘मलेरिया’ अभियान

  • 90 मलेरिया मरीजों की खोज कर किया उपचार
  • धानोरा तहसील स्वास्थ्य अधिकारी की मुहिम

धानोरा. तहसील के दुर्गम व अतिदुर्गम क्षेत्र के मलेरिया मरीजों को खोजकर उनपर दवा उपचार करने के लिए तहसील स्वास्थ्य अधिकारी ने 150 गांवों में मलेरिया अभियान चलाकर करीबन 90 मलेरिया मरीजों की खेाज की. इस समय उन सभी मरीजों पर समय पर दवा उपचार कर उन्हे मलेरिया से मुक्त किया गया. 

5 स्वास्थ्य केंद्र मार्फत चलाया अभियान
राष्ट्रीय किटकजन्य रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत धानोरा तहसील में मलेरिया जांच व दवाउपचार अभियान तहसील के 5 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मार्फत तहसील स्वास्थ्य अधिकारी डा. विरेंद्र भावे इनके नेतृत्व में सफलतापूर्वक चलाया गया. जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. शशिकांत शंभरकर इनके मार्गदर्शन तथा जिला मलेरिया अधिकारी डा. कुणाल मोडक इनके सुचना के अनुसार धानोरा तहसील के गोडलवाही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, रांगी, मुरुमगाव, कारवाफा व पेंढरी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के माध्यम से मलेरिया अभियान 25 से 28 जुलाई तक चलाया गया. 

‘मिशन मलेरिया-2020’
तहसील में मलेरिया अभियान चलाने के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की ओर से शनिवार, रविवार, सोमवार इस दिन एक्शन प्लॅन कृति प्रारूप तैयार किया गया. अस प्रारूप को ‘मिशन मलेरिया-2020’ ऐसा नाम दिया गया. मिशन मलेरिया अंतर्गत मलेरिया मरीज खोज का उपक्रम शुरू किया गया. इसके लिए स्वास्थ्य अधिकारियों का दल खेत पर तथा घर घर जाकर सुबह 6 से 9 व रात 7 से 9 बजे तक सर्वे कर रहा था. सर्वेक्षण से मरीज खोजने का कार्य, मलेरिया जांच, स्वास्थ्य जांच, कुष्ठरोग जांच, गर्भवति माता, प्रसूती माता इनकी स्वास्थ्य जांच, दवाउपचार कार्यक्रम चलाया गया.

स्वास्थ कर्मीयों ने किचडभरी राह से भी किया सफर 
इस मुहिम के लिए जिलास्तर पर से डा. डॉ. आनंद ठिकरे, डा. पंकज हेमके इनका दल आया था. उक्त अभियान चलाते समय खेत परिसर व किचडभरे मार्ग से मार्गक्रमण करते हुए नागरिकों को स्वास्थ्य विषयक मार्गदर्शन किया गया. मच्छरदानी का उपयोग करे, स्वच्छता रखे, आदि संदर्भ में मार्गदर्शन किया. इस अभियान के दौरान धानोरा के तहसील के स्वास्थ्य अधिकारी तथा मुरूमगांव प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के स्वास्थ्य अधिकारी डा. विरेंद्र भावे, गोडलवाही स्वास्थ्य केंद्र के स्वास्थ्य अधिकारी डा. गजानन उपलेंचवार, रांगी स्वास्थ्य केंद्र के स्वास्थ्य अधिकारी डा. योगेश सोयाम, कारवाफा के डा. सतीश जांभुले, पेंढरी के डा. सखा हिचामी, तहसील मलेरिया पर्यवेक्षक अनिल शंखावार आदि ने प्रयास किया.