Marriage of a young man saved by breaking "I will remain as a slave of Juru"

गोंडपिपरी. गडचिरोली जिले की वधू और चंद्रपुर जिले के वर का वैनगंगा नदी किनारे विवाह समारोह संपन्न हुआ. कोरोना पर मात करने के लिए सहयोग की भूमिका यहां दिखाई दी.

गडचिरोली जिले की वधू और चंद्रपुर जिले के वर का विवाह 29 मार्च को तय हुआ था. वर और वधू पक्ष ने निमंत्रण पत्रिकाएं बांट दी थी. किंतु लाकडाउन लगातार बढता जा रहा है. इससे सभी थम सा गया है अब लाकडाउन 4 शुरु है. वर वधू अलग अलग जिले के होने से मंगलवार 19 मई को विवाह का नर्णिय लिया गया. वधू के घरवालों ने अपने घर में तैयारी की. फिर क्या था वधू अपने 5 परिजनों के साथ अंतरजिला सीमा पर वैनगंगा नदी के पुल पर पहुंची.

चंद्रपुर जिले के गोंडपिपरी तहसील के गणपुर निवासी रसिकांत नेवारे वनविभाग में डेली वेजेस में काम करता है. दो वर्ष पूर्व मां के निधन से घरेलू काम के लिए विवाह का नर्णिय लिया और दोनों जिले की सीमा पर विवाह करने सहमत हो गए. पांच रश्तिेदार गणपुर से वैनगंगा नदी के पुल पर पहुंचे और जिलासीमा पर विवाह की अनुमति ली थी. नदी पार कर शिवमंदिर में दोनों ने रितीरिवाज के साथ परिणय सूत्र में बंध गए. मोबाइल यू ट्यूब के माध्यम से मंगलाष्ट बजाकर शादी संपन्न हुई.