ज्ञापन: कोरची तहसील की समस्या हल करें, गड़चिरोली में आंदोलन करने की बिरसा ब्रिगेड़ ने दी चेतावनी

    कोरची. जिले के आखरी छोर बसी कोरची तहसील की समस्या हल करने की मांग को लेकर अनेक बार सरकार और प्रशासन का ध्यानाकर्षण कराया गया. लेकिन इस तहसील की समस्याएं हल करने की ओर बेध्यानी की गई. जिसका खामियाजा तहसील के नागरिकों को भुगतना पड़ रहा है.

    जिससे कोरची तहसील की समस्या आगामी 8 अगस्त तक हल करें, अन्यथा गड़चिरोली जिला मुख्यालय से इंदिरा गांधी चौक में 11 अगस्त से बेमियादी चक्काजाम आंदोलन करने की चेतावनी जिला बिरसा ब्रिगेड़ के पदाधिकारियों ने जिला परिषद अनिल केरामी के नेतृत्व में जिलाधीश के माध्यम से राज्य के मुख्यमंत्री को भेजे ज्ञापन में दी है. ज्ञापन सौंपते समय बिरसा ब्रिगेड के जिलाध्यक्ष गोडस वरखड़े, उपाध्यक्ष श्याम कुलमेथे, सूरज मड़ावी, भारत कुमरे, महिला जिलाध्यक्ष उज्ज्वला मड़ावी,  मोहन कुचरामी, उत्तम कोरेटी आदि उपस्थित थे.

    इस्तीफे और चुनाव पर बहिष्कार डालने के बाद भी समस्या जैसे थे

    कोरची तहसील की विभिन्न समस्याएं हल करने के लिये सर्व दलीय विकास आंदोलन समिति द्वारा वर्ष 2011 से मोर्चा, बेमियादी आंदोलन, चक्काजाम आंदोलन समेत तहसील के 30 ग्रापं के सरपंचों ने अपने पद का इस्तीफा दिया था.

    विशेषत: इस तहसील के नागरिकों ने जिला परिषद व पंचायत समिति के चुनाव पर भी बहिष्कार डाला था. उस समय तत्कालीन जिलाधीश ने तहसील की समस्या हल करने का आश्वासन दिया था. लेकिन अब अनेक वर्षों की कालावधि पूर्ण होने के बावजूद भी तहसील की समस्याएं जैसे थे बनी हुई है. जिससे जिला प्रशासन की  कार्यप्रणाली पर तहसील के नागरिकों द्वारा तीव्र नाराजगी व्यक्त की जा रही है.

    इन मांगों का है समावेश

    कोरची तहसील के झेंडेपार, आग्ररी, मसेली, भररीटोला, नांदली की प्रस्तावित लोहखनिज प्रकल्पों की दी गई लीज खारिज करने, इसके बाद किसी भी कंपनी को लीज न देने का समर्थन पत्र देने, कोरची में होनेवाली बिजली लाईन जंगल से बिछाई गयी है. जिसके कारण अनेक बार बिजली आपुर्ति बंद होती है.

    तहसीलवासियों को बिजली समस्या से राहत देने के लिये 33 केवी की बिजली कनेक्शन यह ऐरियल बंच केबल से जोड़ने, कोरची स्थित बिजली केंद्र के उपकरण 30 वर्ष पुराने होकर वह तत्काल बदलने, ढोलढोंगरी में 33 केवी केंद्र का कार्य तत्काल पूर्ण करने, 132 केवी कुरखेड़ा बिजली वितरण केंद्र का काम तत्काल कर कोरची फीडर अलग करने, तहसील में बीएसएनएल के अलावा दूसरी कोई कंपनी सेवा नहीं दे रही है.

    लेकिन वर्तमान स्थिति में कोरची तहसील में केवल टू-जी की सेवा मिल रही है. जिसका खामिजाया इस तहसील में डिजिटल  इंडिया की संकल्पना धूल खाते पड़ी है. आदि समेत विभिन्न मांगों का समावेश है.