'My family, 97 patients found in my responsibility campaign
File Photo

सरकार के 'मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी' मुहिम के अंतर्गत घर-घर जाकर नागरिकों की स्वास्थ्य जांच की जा रही है.

  • दल को सहयोग करने की सीईओ ने की अपील 

गडचिरोली. सरकार के ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ मुहिम के अंतर्गत घर-घर जाकर नागरिकों की स्वास्थ्य जांच की जा रही है. इस जांच के दौरान कोरोना बाधित मरीजों के साथ ही आईएलआई व सारी के भी मरीज पाए जा रहे है। इस मुहिम के अंतर्गत जांच करते हुए 97 सारी के मरीज पाए गए है। जिससे प्रशासन की परेशानी कम होने की बजाय बढ़ गई है। 

आजतक जिले में 668 दल ने 11558 परिवारों के घर  पहुंचकर 40851 नागरिकों की स्वास्थ्य जांच की। उन्हे स्वास्थ्य विषयक शिक्षा दी। जिले में बडी संख्या में आशा वर्कर इस मुहिम में सहभागी हुए है। राज्य सरकार की महत्वपूर्ण मुहिम के रूप में इसे देखा जाता है। इसमें स्थानीय स्वयंसेवकों के साथ आशा, अंगणवाडी सेविका तथा स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी कार्य कर रहे है। जिले में 40851 नागरिकों के स्वास्थ्य जांच के बाद सामने आए 97 आईएलआई व सारी के मरीजों की कोरोना जांच की जा रही है। इसी तरह प्रत्येक नागरिकों की स्वास्थ्य जांच कर समय पर संबंधितों को उपचार सेवा दी जा रही है। 

फिलहाल जिले में लॉकडाऊन नहीं रहा है। अनेक नागरिक सतर्कता बरते बिना चहल-पहल कर रहे है। मास्क न लगाना, सामाजिक दूरी का पालन न करना, हाथ निरंतर न धोना इन नियमों का पालन नहीं करने से कोरोना का  संक्रमण बढ रहा है। मृत्यु के लिए तो उम्र का भी बंधन नहीं रहा है। अपनी जिम्मेदारी पहचानकर स्वयं के लिए तथा अपने परिवार के लिए कोई भी जानकारी न छुपाएं, ऐसा आह्वान प्रशासन ने किया है। घर में को-मॉरबीड नागरिक होंगे याथ किसी को आईएलआई सारी तथा कोरोनासदृष्य लक्षण की जानकारी दस्ते को दे, जिससे मृत्युदर कम करने में मदद मिलेगी। अगर जानकारी छुपाई तो आपके ही परिवार का नुकसान होनेवाला है। इसका ध्यान रखे, यह मुहिम सफल बनाना यह प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है। जिससे मुहिम के सफलता के लिए प्रत्येक व्यक्ति इसमें शामिल होने की अपील जिप के सीईओ कुमार आशीर्वाद ने की है। 

सर्वेक्षण में सीईओ भी शामिल 
अहेरी तहसील के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र महागांव अंतर्गत नवेगांव उपकेंद्र के किष्टापुर गांव में जिप के सीईओ कुमार आशिर्वाद ने भेंट दी व कुछ नागरिकों की प्रत्यक्ष जांच भी की। इस समय उन्होने ग्रामीणों को दस्ते के कोरोनादूतों को सहयोग करने का आहवान भी किया। नागरिकों के स्वास्थ्य के लिए उन्हे कोरोना न हो इसलिए यह कोरोनादूत आपके द्वार पर आ रहे है। उन्हे जानकारी देकर कोरोना संक्रमण रोकने के लिए प्रशासन को सहयोग का आहवान किया।