नक्सलियों द्वारा ड्रोन निगहेबानी?, पुलिस विभाग हुआ सतर्क

  • आधुनिक तकनीक का उपयोग

गडचिरोली. लाल आतंक फैलानेवाले नक्सली अब आधुनिक तकनीक के माध्यम से अपनी गतिविधियां बढाने की बात सामने आ रही है। जिले के दुर्गम एटापल्ली व भामरागढ तहसील के कुछ पुलिस मदद केंद्र के पास ड्रोन घुमते नजर आए। जिससे पुलिस जवानो ने नक्सलियों के इस वारदात को विफल करने का प्रयास किया। नक्सलियों द्वारा अब आधुनिक तकनीक का उपयोग करते हुए पुलिस गतिविधियों पर निगहेबानी आरंभ करने की बात कहीं जा रही है। नक्सलियों के इस कृत्य को देखते हुए पुलिस विभाग भी अधिक सतर्क हो गया है।

जिले में एटापल्ली व भामरागढ तहसील व्यापक नक्सलग्रस्त मानी जाती है। इन दोनों तहसीलों में नक्सलियों की गतिविधियां देखने को मिलती है। जिसके पुलिस विभाग द्वारा नित दोनों तहसीलों में भारी मात्रा में पुलिस जवान की तैनाती कर नक्सल विरोधी अभियान चलाता है। मात्र अबतक नक्सलियों द्वारा मुखबिरों के माध्यम से पुलिस विभाग की गतिविधियों पर नजर रखने की बात कहीं जा रही थी। मात्र अब नक्सली पुलिस पर वॉच रखने के लिए ड्रोन का उपयोग करने की भी वारदात सामने आयी है। गुरूवार की रात के दौरान एटापल्ली तहसील के हेडरी, आलदंडी, बुर्गी व भामरागढ तहसील के कोठी पुलिस मदद केंद्र के समीप ड्रोन जैसी वस्तू निगहबानी करते नजर आए। जिससे पुलिस जवानों ने सतर्कता दिखाते हुए ड्रोन सअदृष्य वस्तू को गिराने के प्रयास में उस दिशा में हवां में फायरिंग करने की जानकारी है। नक्सलियों के इस वारदात से नक्सली इस परिसर में सक्रिय होने की बात कहीं जा रही है। नक्सलियों द्वारा इस तरह आधुनिक तकनीक का प्रयोग करने की जिले की संभवत पहली घटना है।

छग के नक्सलियों की करतूत?

एटापल्ली व भामरागढ यह दोनों तहसीले छत्तीसगढ राज्य से सटी हुई है। जिससे छत्तीसगढ के नक्सलियों द्वारा इस वारदात को अंजाम देने की संभावना व्यक्त की जा रही हैं। बतां दे कि, नक्सलियों द्वारा इससे पूर्व वॉकी टॉकी जैसे साहित्यों का उपयोग करते आए है। मात्र अब नक्सलियों ने सीधे ड्रोन का उपयोग करने से पुलिस विभाग को और सतर्क रहने की आवश्यकता है। नक्सलियों के इस वारदात को देखते हुए जिला पुलिस दल सतर्क रहते हुए संबंधित क्षेत्रों में कडी सुरक्षा व्यवस्था रखते हुए निगरानी बढा दी है। वहीं संबंधित ड्रोन संदर्भ की जांच भी पुलिस विभाग कर रहा है। मात्र इस घटना संदर्भ में पुलिस द्वारा अबतक पुष्टि नहीं की है।

नक्सली बैनर का किया दहन

नक्सलियों द्वारा 21 से 27 सितंबर के दौरान विलय दिवस सप्ताह मनाया जानेवाला है। जिसके मद्देनजर नक्सलियों ने 16 सितंबर को अहेरी तहसील के जिमलगट्टा अंतर्गत उपपुलिस थाना दामरंचा के तहत आनेवाले वेलगुर टर्निंग व भामरागढ तहसील के लाहेरी उपपुलिस थाना अंतर्गत आनेवाले मलमपोड्डूर परिसर में नक्सली बैनर लगाकर विलय सप्ताह मनाने की अपील की थी। मात्र संबंधित परिसर के नागरिकों ने उक्त बैनर का दहन कर नक्सलियों के विलय दिवस सप्ताह का व्यापक विरोध किया है। इस दौरान ग्रामीणों ने नक्सलियों के खिलाफ घोषणाबाजी भी की। ग्रामीणों के इस कार्य की प्रभारी पुलिस अधिक्षक अजय कुमार बन्सल ने प्रशंसा की है।