corona-virus

  • ग्रामीण क्षेत्र में नए मरीजों में हो रही वृद्धी

गडचिरोली. एक ओर राज्य के कुछ क्षेत्रों में कोरोना की दुसरी लहर फैलने का चित्र निर्माण हुआ है, ऐसे में राज्य के अंतिम छोर होनेवाले गडचिरोली जिले में विगत कुछ दिनों में बाधितों का प्रमाण कम होने से राहत की स्थिती है. मात्र इन दिनों अब ग्रामीण क्षेत्र के मरीजों की संख्या अधिक होने से कोरोना ने अब ग्रामीण क्षेत्रों की ओर कुच करने की स्थिती निर्माण हुई है. 

समुचे विश्व में दहशत मचानेवाले कोविड-19 वायरस ने मार्च माह में देश के साथ राज्य में एन्ट्री की. शुरूआत में राज्य के अनेक शहरी क्षेत्रों में कोरोना का प्रादुर्भाव बढ रहा था, मात्र राज्य के अंतिम छोर पर बसे आदिवासी बहुल, अतिदुर्गम, अविकसीत ऐसे गडचिरोली जिले में मई माह में प्रथम मरीज का पंजियन हुआ. इसके पश्चात अक्तुंबर तक जिले में दिन ब दिन मरीजों में वृद्धी होती गई. अबतक जिले में 8118 बाधितों का पंजियन किया गया है. इनन कोरोना बाधितों में शहरी क्षेत्र के मरीजों का प्रमाण अधिक था. जिससे ग्रामीण क्षेत्र के नागरिक निश्चिंत दिखाई दे रहे थे. मात्र विगत कुछ माह से जिले के दुर्गम ग्रामीण क्षेत्र के मरीजों की संख्या बढती दिखाई दे रही है. जिससे अब कोरोना ने ग्रामीण क्षेत्रों को भी घेरने की की बात कहीं जा रही है. 

जिले में अबतक कोरोना से 85 मरीजों ने अपनी जान गंवाई है. वहीं 8118 बाधितों में से 7664 मरीजों ने कोरोना मुक्त हुए है, फिलहाल केवल 439 सक्रीय मरीजों पर स्वास्थ्य विभाग अंतर्गत उपचार शुरू है. यह आंकडेवारी जिला प्रशासन के लिए राहत देनेवाला है, मात्र विगत कुछ दिनों से ग्रामीण क्षेत्र से बाधितों की संख्या बढती दिखाई दे रही है. जिससे ग्रामीण अंचल में कोरोना का उद्रेक होने का भय व्यक्त हो रहा है. शितकाल में वातावरण में हुए बदलाव के कारण सर्दी, खांसी, बुखार जैसे संक्रमित बिमारियों का प्रमाण बढा है. कोरोना मरीजों के संदर्भ में भी यहीं लक्षण दिखाई पडने से ग्रामीण क्षेत्र के लोग अस्पताल में जाने में टालमटोल कर रहे है. मात्र यहीं स्थिती कायम रहने पर प्रशासन के समक्ष नया आह्वान निर्माण होने की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता है. 

शनिवार को 48 बाधित; 63 कोरोनामुक्त

जिले में शनिवार 5 दिसंबर को 48 नए बाधिता पाए गए होकर 63 मरीज कोरोनामुक्त हुए है. बाधितों में गडचिरोली तहसील के 22 लोगों का समावेश है. वहीं अहेरी 3, आरमोरी 8, भामरागढ 1, चामोर्शी 1, धानोरा 3, एटापल्ली 1, कुरखेडा 2, मुलचेरा 2, सिरोंचा 1 व देसाईगंज के 4 लोगों का समावेश है. वहीं कोरोनामुक्त हुए 63 मरीजों में गडचिरोली तहसील के 35, अहेरी 9, आरमोरी 3, भामरागड 4, चामोर्शी 5, धानोरा 2, कुरखेडा 2 व देसाईगंज के 3 मरीजों का समावेश है. 

मरीजों के लिए 1385 बेड की व्यवस्था

जिले में कोरोना मरीजों की संख्या घटती दिखाई दे रही है, मात्र स्वास्थ्य विभाग सभी स्थिती का सामना करने के लिए तत्पर दिखाई दे रहा है. वर्तमान स्थिती में जिले के विभीन्न उपचार केंद्रों में 1385 बेड उपलब्ध है. उसमें से 307 बेड पर कोरोना मरीजों पर उपचार शुरू है. राज्य के कुछ क्षेत्र में कोरोना की दुसरी लहर आने की स्थिती दिखाई दे रही है. जिससे जिले में भी कोरोना के मरीज बढने का भय व्यक्त हो रहा था. मात्र विगत कुछ दिनों में पॉजिटिव मरीजों का प्रमाण कम दिखाई दे रहा है. जिससे राहत मिल रही है. 

जिले में कोरोना की स्थिती

जिले में अबतक 8188 बाधितों में से 7664 मरीज कोरोनामुक्त हुए है. फिलहाल 439 सक्रिय कोरोना मरीजों पर विभीन्न स्वास्थ्य केंद्र अंतर्गत उपचार शुरू है. वहीं 85 बाधितों की कोरोना से मृत्यू हुई है. जिले में कोरोना मरीज स्वस्थ्य होने का प्रमाण 93.6 प्रश, सक्रिय मरीजों का प्रमाण 5.36 प्रश तो मृत्यू दर 1.04 प्रश इतना है.