arrest

  • न्यायालय ने दिया 14 दिनों के एमसीआर

गडचिरोली. सिरोंचा कार्यालय की  महिला परिचर (चपरासी) को मोबाइल पर अश्लील वीडियो भेजने के मामले में पुलिस ने अपराध दर्ज कर सिरोंचा पंस के सहायक प्रशासन अधिकारी सुधाकर निमसरकार को आज 25 सितंबर को  गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से आरोपी को 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश दिये है।

पंचायत समिति के सिविल विभाग में कार्यरत महिला परिचर (चपरासी) कर्मचारी 21 सितंबर को सहायक प्रशासन अधिकारी सुधाकर निमसरकार ने अश्लील वीडियो भेजा था। इस मामले में महिला कर्मचारी ने सिरोंचा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करायी थी। इस दौरान प्रभारी थानेदार अजय अहिरकर के नेतृत्व में पुलिस ने आरोपी सुधाकर निमसरकार को आज शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया।  गिरफ्तारी के बाद आरोपी को न्यायालय में पेश करने पर उसे 8 अक्टूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। मामले की जांच प्रभारी थानेदार अहिरकर कर रहे है।

पार्टी को लेकर कर्मचारियों ने साधी चुप्पी

उक्त मामला गूंजने पर  इसी कार्यालय के एक कर्मचारी के बिदाई समारोप की पार्टी पंस के सभागृह में कार्यालय में संपन्न हुई। इसमें कर्मचारियों ने मटन व शराब की पार्टी की। गटविकास अधिकारी पटले के पार्टी के लिए मना करने के बावजूद कर्मचारियों की देर देर तक पार्टी शुरू थी। इस बारे की अभी तक किसी ने भी शिकायत नहीं की सभी कर्मचारी खामोश बैठे है। जिससे जिप सीईओ इस संबंध में क्या भूमिका अपनाते है इस ओर सभी की निगाहें लगी है।

जांच के बाद उचित कार्रवाई-सीईओ आशिर्वाद

इस मामले का जिला परिषद के सीईओ कुमार आशीर्वाद ने जांच कर दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ उचित कार्रवाई का भरोसा दिया है।  इसके पूर्व भी निमसरकार के खिलाफ महिला कर्मचारियों के साथ बदसलूकी शिकायत के बावजूद टालमटोल रवैय्या अपनाने पर उन्होंने कहा कि उनके कार्यकाल में इस प्रकार की घटनाएं नहीं होगी।