कोरोना के साथ अब सिरोंचा में डेंग्यू का प्रकोप, मरीजों की संख्या पहुंची 110 पर

  • स्वास्थ्य विभाग का बढा सिरदर्द

गडचिरोली. कोरोना वायरस का प्रकोप बढने से पहले ही लोग परेशान हुए है। दिन ब दिन कोरोना बाधितों की संख्या बढ रही है, ऐसे में गडचिरोली जिले के अंतिम छोर पर बसे सिरोंचा तहसील में डेंग्यू भी प्रकोप बढा है। अब तक इस तहसील में 110 डेंगू के मरीज पाए गए है। जिससे स्वास्थ्य विभाग की नींद उडी है। कोरोना वायरस का संक्रमण  रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग युद्धस्तर  पर प्रयास कर रहा है, ऐसे में तहसील में डेंगू के मरीजों में भी वृद्धी होने से स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है।

फिलहाल चारों ओर कोरोना वायरस का प्रकोप बढ रहा है। ऐसे में अब बदलता वातावरण व मानसून की वापसी के चलते बिमारीयों ने सिर उठाना आरंभ किया है। कोरोना बाधित मरीजों के साथ अब डेंगू, मलेरिया बिमारी के भी मरीज पाए जा रहे है। जिससे नागरिकों में दहशत निर्माण हुई है। सिरोंचा तहसील में फिलहाल कोरोना के साथ ही डेंग्यू के मरीजों में भी दिन ब दिन वृद्धी हुई। नित  2 से 4 डेंग्यू के मरीज पाए जा रहे है। सिरोंचा के ग्रामीण अस्पताल के प्रयोगशाला से प्राप्त जानकारी के अनुसार तहसील में 22 सितंबर तक 110 डेंग्यू के मरीजों पाये गये थे।

रंगयापल्ली में सर्वाधिक 17 मरीज

तहसील में डेंग्यू से पीडितों की संख्या में शहर मुख्यालय से 12 किमी दूरी पर स्थित रंगय्यापल्ली इस गांव में सर्वाघिक 17 मरीज पाए गए है। उसके बाद वडदम में 4 मरीज मिले है।  फिलहाल सिरोंचा में डेंग्यू के मरीजों की संख्या कम है, मात्र नित मरीजों की संख्या में वृद्धी हो रही है। ग्रामीण अस्पताल व निजी अस्पताल में भेट देकर निरीक्षण करने पर यह बात उजागर हुई है। जिससे कोरोना प्रादुर्भाव के साथ ही अन्य बिमारीयों को लेकर सतर्कता बरतने की आवश्यकता निर्माण हुई है। 

विशेष दल हुआ तत्पर

डेंग्यू मरीजों के संख्या में वृद्धी न हो, इसलिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व दल के मलेरिया कर्मचारी, आशा सेविका, मलेरिया सेवक गांव गांव में जाकर नागरिकों में डेंग्यू बिमारी के प्रति जनजागृति कर रहे है। डेंग्यू पर नियंत्रण पाने के लिए  गडचिरोली के मलेरिया विभाग का विशेष दल तत्पर है। सूचना मिलते ही यह कर्मचारी छिडकाव मशीन द्वारा ग्रामीण अंचल में छिडकाव कर रहे है। हाल ही में जिला मलेरिया अधिकारी ने तहसील में भेट देकर कार्यो का निरीक्षण किया। बताया जा रहा है, अनेक मरीज उपचार के लिए भागदौड कर रहे है। ऐसे में अनेक मरीज समीप तेलंगाना राज्य में उपचार हेतु जाने की जानकारी है।