Paddy
File Photo

गडचिरोली. वर्ष 2020-21 इस पणन सीजन के लिए 29 सितंबर, 2020 के सरकारी परिपत्रक के अनुसार समर्थन मुल्य किंमत खरीदी योजना अंतर्गत धान खरीदी करने के निर्देश दिए थे. जिसके तहत बगैर आदिवासी क्षेत्र में महाराष्ट्र स्टेट को-ऑप. मार्केटिंग फेडरेशन के मार्फत 16 धान खरीदी केंद्र व आदिवासी क्षेत्र में महाराष्ट्र राज्य सहकारी आदिवासी विकास महामंडळ मर्या. के मार्फत 40 धान खरीदी केंद्र व उप प्रादेशिक प्रबंधक (उच्च श्रेणी), अहेरी के मार्फत 39 ऐसे कुल 95 धान खरीदी केंद्र केा जिलाधिकारी ने मान्यता देने से इन सभी केंद्रो पर धान खरीदी शुरू हुई है. 

खरीफ पणन सीजन धान खरीदी का कालावधि 1 अक्टूबर 2020 से 31 मार्च 2021, खरीफ पणन सीजन (रब्बी/धुपकालीन) 1 मई 2021 से 30 जून 2021 ऐसा रहनेवाला है. धान बिक्री के लिए किसान संबंधित केंद्रो पर ऑनलाईन पंजियन करना आवश्यक है. किसान संबंधित खरीदी केंद्र पर धान बिक्री के लिए ले जाते समय साथ में आधार कार्ड व शुरू होनेवाले बैंक के बचत खाते के पासबुक व जिसपर धान फसल का पंजियन है, ऐसा शुरू वर्ष का सातबारा लाना अनिवार्य रहेगा. समाईक क्षेत्र होनेवाले सातबारा पर सम्मतीपत्र देना अनिवार्य रहेगा. वहीं खरीदी केंद्र पर किसान सीमांत, लघु मध्यम व बडे किसान ऐसे जमिन धारणा पर आधारीत तथा अनु.जाति, अनु.जनजाति, अन्य व अवर्गीकृत ऐसी वर्गवारी करने की होने से धान उत्पादक किसान धान खरीदी केंद्र पर इस संदर्भ में जानकारी दे, किसान किसी भी निजी व्यापारी/ दलाल / मध्यस्थीतों की मदद न लेते हुए सिधे सरकारी खरीदी केंद्र पर धान की बिक्री करे वहीं धान उत्पादक किसान निजी व्यापारियों को खुले बाजार दर से धान की बिक्री करने पर उन्हे शुरू वर्ष का सातबारा व बैंक खाते की जानकारी देना टाले, ऐसा आह्वान जिलाधिकारी ने जिले के किसानों को किया है. 

आविकां के खरीदी केंद्र  

महाराष्ट्र राज्य सह. आदिवासी विकास महामंडल गडचिरोली (आदिवासी क्षेत्र के लिए) अंतर्गत कोरची तहसील के कोटरा, बेतकाठी, बेडगाव, बोरी, मसेली, कोटगुल, चवीदंड, कुरखेडा तहसील के मालेवाडा, येंगलखेडा, कुरखेडा, आंधली, घाटी, गेवर्धा, वडेगांव (नान्ही), गोठणगाव, सोनसरी, पलसगड, कढोली, शिरपूर, उराडी, अंगारा, आरमोरी तहसील के देलनवाडी, दवंडी, कुरुंडीमाल, देसाईगंज तहसील के पिंपलगाव, गडचिरोली तहसील के पोटेगाव, चांदाला, धानोरा तहसील के रांगी, धानोरा, दुधमाला, कारवाफा, मोहली, सोडे, चातगांव, चामोर्शी तहसील के मक्केपल्ली, आमगांव, सोनापुर, भाडभिडी, घोट, रेगडी के केंद्र पर से धान खरीदी शुरू की गई है. 

अहेरी उप प्रादेशिक कार्यालय अंतर्गत केंद्र 

उप प्रादेशिक प्रबंधक, (उच्च श्रेणी) आदिवासी विकास महामंडल मर्या., अहेरी (आदिवासी क्षेत्र ) अंतर्गत अहेरी, बोरी, कमलापुर, वेलगुर, इंदाराम, उमानुर, आलापल्ली, पेरमिली, जिमलगट्टा, देचलीपेठा, मुलचेरा तहसील के लगाम, मुलचेरा, सिरोंचा तहसील के असरअल्ली, अमरादी, अंकिसा, वडधम, जाफ्राबाद, रोमपल्ली, सिरोंचा, झिंगानुर, बामणी, विठ्ठलरावपेठा, पेंटीपाका, भामरागड तहसील के भामरागढ, लाहेरी, ताडगाव, कोठी, मन्नेराजाराम, एटापल्ली तहसील के एटापल्ली, गट्टा, तोडसा, घोटसुर, कसनसुर, जारावंडी, गेदा, कोटमी, हालेवार, उडेरा (बुर्गी), हेडरी इन खरीदी कंद्र का समावेश है. 

मार्केटिंग फेडरेशन के केंद्र 

महाराष्ट्र स्टेट को.ऑप मार्केटिक फेडरेशन, चंद्रपूर (गैर आदिवासी क्षेत्र) अंतर्गत चामोर्शी तहसील के चामोर्शी,  येनापूर, सुभाषग्राम, कुनघाडा, गणपूर, आष्टी, घोट, गडचिरोली तहसील के गडचिरोली, मुलचेरा तहसील में विवेकानंदपूर, मथुरानगर, सुंदरनगर, आरमोरी तहसील के आरमोरी, वैरागड, वडधा (बोरी), देसाईगंज तहसील के  देसाईगंज, कोरेगाव (चोप) के तहत धान खरीदी केंद्र निश्चित किया है. 

अन्यथा फौजदारी मामला होगा दर्ज 

समर्थनमुल्य योजना अंतर्गत ‘अ’ दर्जे के धान के लिए प्रति क्विंटल 1888 रुपये व साधारण धान के लिए प्रति क्विंटल 1868 रुपये दाम सरकार ने निश्चित कराया है. धान उत्पादक किसानों के अलावा व्यापारी या अन्य कोई भी व्यक्ति संबंधित कंद्र पर धान बिक्री के लिए लाने की बात निदर्शन में आने पर उसपर फौजदारी मामला दर्ज किया गया. 

इन दस्ते द्वारा होगी जांच 

धान खरीदी केंद्र की जांच करने के लिए उप विभागीय अधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, निरीक्षण अधिकारी, तहसील कृषी अधिकारी इनका जांच दल तैयार किया गया होकर उक्त दस्ते द्वारा धान खरीदी केंद्र की जांच की जानेवाली है. सरकार के निर्देश के अनुसार नॉन FAQ दर्जे के धान खरीदी / बिक्री करने की बात जांच दस्ते को निदर्शन में आने पर संबंधित पर फौजदारी मामला दर्ज किया जानेवाला है.