नुकसानग्रस्त फसलों के पंचनामे शुरू

  • विधायक गजबे ने दिया था तहसिलदार को निर्देश

देसाईगंज. तहसील में वापसी बारीश से खडे धान फसलों का बडे पैमाने में नुकसान हुआ. तथा शेष धान फसलों पर मावा, तुडतुडा कीटों के प्रादुर्भाव से किसान दिक्कतों में आ चुके थे. इसकी सुध लेकर विधायक कृष्णा गजबे ने प्रत्यक्ष बांध पर भेट देकर नुकसान का निरीक्षण किया था. उस दौरान उन्होंने 24 अक्टूबर को जायजा बैठक लेकर तहसिलदार को पंचनामे करने के आदेश दिए थे. अंतत: संबंधित विभाग की ओर से युद्धस्तर पर तुडतुडा से नुकसानग्रस्त धान फसलों के पंचनामे शुरू किए जाने से किसान बांधवों की ओर से समाधान व्यक्त किया जा रहा है.

देसाईगंज तहसील के खरीप सीजन -2020 के दौरान खेत के धान फसलों पर बडे पैमाने में मावा, तुडतुडा कीटों का प्रादुर्भाव होकर धान फसल बर्बाद हुए. तथा वापसी बारीश से कटाई किए गए हलके प्रती के धान का भी भारी मात्रा में नुकसान हुआ. जिससे खेती व्यवसाय अधिक प्रभावित हुआ. किसानों ने बडी मशक्कत के बाद बचाए हुए भारी प्रती के धान कीटों के प्रकोप से सम्पूर्ण धान फसल नष्ट होने की तस्वीर दिख रही थी. जिससे उत्पादन खर्च भरकर निकलना संभव न होने से तहसील के किसान अधिक अडचण में आ चुके थे. जिससे किया हुआ खर्च, बैंकव्दारा लिया हुआ फसल कर्ज कैसे चुकाएंगे? इस चिंता में यहा के किसान थे.

इस दौरान विधायक कृष्णा गजबे ने किसानों के बांध पर प्रत्यक्ष भेट देकर नुकसान का निरीक्षण करने पर, भयावह स्थिती दिखाई दी. जिससे उन्होंने यहा के किसानों को उचित रूप से नुकसान मुआवजा मिलाने के दृष्टी से तलाठी, ग्रामसेवक, कृषीसेवक के माध्यम से हुए नुकसान का तत्काल पंचनामा कर रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए थे. जिसके तहत तहसीलदार संतोष महले ने संबंधितों को तत्काल नुकसानग्रस्त धान फसलों के पंचनामे करने के आदेश निर्गमित करने से युद्धस्तपर पंचनामे शुरू किए गए है. जिससे किसान बांधवों की ओर से समाधान व्यक्त किया जा रहा होकर मदद की प्रतीक्षा है.