कोरोना कालावधि के 4 माह के बिजली बिल माफ करे

  • आप ने विधायक डा. होली को सौंपा ज्ञापन

गडचिरोली. कोविड-19 महामारी के दौरान राज्य के जनता की स्थिती बिकट हुई है. अब भी जनता इससे बाहर नहीं निकली है. ऐसा होने के बावजूद 1 अप्रैल 2020 से बिजली के दर में वृद्धी कर अधिक के बिजली बिल दिए गए है. यह दरवृद्धी रद्द कर कोरोना कालावधि के 200 युनिट बिजली बिल माफ करे ऐसी मांग आम आदमी पार्टी की ओर से विधायक डा. देवराव होली को सौंपे गए ज्ञापन से की है. 

14, 15 दिसंबर को होनेवाले विधानसभा अधिवेशन में जनता का हित तथा महामारी की परिस्थिती ध्यान में रख्तो हुए कोविड दौरान के मार्च से जून इन 4 माह के 200 युनिट बिजली बिल माफ करे, एमएसईबी द्वारा 1 अप्रैल 2020 से की गई बिजली दरवृद्धी पिछे ले, शिवसेना के वचन के तहत 300 युनिट तक 30%  स्वस्त बिजली देने की वचनपूर्ती करे, राज्य सरकार का 16% अधिभार तथा वहन कर रद्द करे, बिजली कंपनी के सीएजी ऑडीट करे यह विषय आगामी अधिवेशन में रखकर जनहितार्थ उचित निर्णरू ले, ऐसी मांग आप ने ज्ञापन से की है. वहीं इस संदर्भ में राज्य में अनेक आंदोलन कर ज्ञापन सौंपा गया है. समय समय समय पर मंत्रिमंडल में चर्चा हुई.

वहीं केंद्र सरकार की ओर प्रस्ताव भेजने की जानकारी मंत्री महोदय ने माध्यमों को दी. मात्र अबतक सरकार द्वारा इस संदर्भ में निर्णरू नहीं लिया गया है. जिसेस राज्य की जनता इस निर्णय की प्रतिक्षा कर रहे है, ऐसी बात भी ज्ञापन में कहीं गई. ज्ञापन सौंपते समय आम आदमी पार्टी के जिला प्रमुख बालकृष्ण सावसाकडे, जिला सचिव संजय वालके, अनिल बालेकरमकर, युवा संयोजक वसंत गायकवाड, संजय जिवतोडे, हितेंद्र गेडाम, चोखाजी अंबादे, कालिदास धारणे, साईनाथ गरमले, कमलेश कोडाप, सुरेश गेडाम व कार्यकर्ते उपस्थित थे.