दुर्घटना के घायल पीड़ितों को पुलिस ने की मदद

  • कर्तव्य के अलावा समाजसेवा में सक्रिय झिंगानुर पुलिस

सिरोंचा. तहसील के झिंगानुर पुलिस अक्सर अपने जवाबदारी के अलावा समाज सेवा के बदौलत लोगों की सराहना में रहती है। झिंगापुर में तैनात पुलिस दल ने बीते दिनो बाढ़ के हालातों के चलते मुख्य मार्ग के क्षति ग्रस्त होने पर  लोगों की सेवा के भावना से मरम्मत का कार्य कराया था। वहीं अब पुलिस दल दुर्घटना मे अपने पैर खो चुके परिवार को आर्थिक मदद कर समाजजसेवा की है।

तहसील के आसरअल्ली मार्ग पर बीते माह 7 अगस्त के को झिंगापुर निवासी दो लोग दुर्घटना के शिकार हो गये  थे। जिनका उपचार के दरम्यान एक व्यक्ति का पैर काटना पड़ा दूसरे व्यक्ति के सिर पर गंभीर चोट आई थी। दोनों को चंद्रपुर जिला सरकारी अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल किया गया था। जो की दोनों व्यक्ति झिंगानुर थाना क्षेत्र के वरदेल्ली गांव के निवासी थे। इसकी जानकारी पुलिस को मिली। अब दोनों मरीज अपने  गृह गांव वापिस लौट चुके है।

इसको देखते हुए झिंगानुर पुलिस बल ने अपने अधिकारी पुलिस उप निरीक्षक युवराज के नेतृत्व मे पीढितों के घर पर पहुंच कर उनका हाल जाना एवं उनकी सहायता करने  के उद्देश्य से आपसी सहयोग से पीढित परिवार को 20 हजार रुपये की सहायता राशि प्रदान की। इस अवसर पर झिंगानुर थाना प्रभारी युवराज धोड़के, एपीआई जोन्गे, पीएसआई सारंगधर, झिंगानुर के सरपंच, कल्लेड़ के सरपंच, वडदेल्ली पुलिस पटेल, मंगीगुडेम पुलिस पाटिल के अलवा ग्रमीण उपस्थित थे।