नालियों का घटिया निर्माण: जांच कर अभियंता को निलंबित करे

  • कोटगुल के ग्रामीणों की मांग

कोरची. कोटगुल के मुख्य सडक से लेकर पुलिस मदद केंद्र तक प्रधानमंत्री ग्रामसडक योजना अंतर्गत नाली का निर्माझा किया जा रहा है. उक्त निर्माणकार्य घटिया दर्जे किया जा रहा है. जिससे इस निर्माणकार्य की जांच करे व संबंधित अभियंता पर निलंबन की कार्रवाई करे, ऐसी मांग कोटगुल के ग्रामीणों ने की है. 

कोरची तहसील के कोटगुल में 260 मीटर नाली निर्माण मंजूर किया गया. इसमें से 90 प्रश कार्य पूर्ण होने की जानकारी ठेकेदार के कामगारों दी. उक्त कार्य का निरीक्षण करने पर संपूर्ण निर्माणकार्य घटिया दर्जे का किए जाने का निदर्शन में आया. ग्रामीणों द्वारा कहें अनुसार इन नाली निर्माण में सिमेंट का उपयोग काफी कम मात्रा में किया जा रहा है. इस कार्य के शुरूआत में करीब 130 मीटर के आसपास लोहे के सलाखों का उपयोग किया गया. मात्र इसके बाद के 130 मीटर के निर्माण में लोहे के सलाखों का उपयोग नहीं किया गया. बतां दे कि, इस संदर्भ में लोक निर्माण विभाग के शाखा अभियंता आर. एस. चड्डा इन्हे कुछ ज्ञात नहीं है. 130 मीटर का कार्य पूर्ण होने के पश्चात उन्हे यह बात निदर्शन में आयी. जिससे इस कार्य के प्रति उक्त अभियंता की गंभिरता देखने को मिल रही होकर इसकी विस्तृत जांच करे, ऐसी मांग ग्रामीणों ने की है. 

नाली के बेड के लिए घटिया बोल्डर का उपयोग 

नाली का खुदाई कार्य करने के पश्चात बेड के लिए 80 एमएम का बोल्डर का उपयोग करना था. मात्र यहां बोल्डर का उपयोग नहीं किया गया. करीब 15 से 20 दिनों से जारी इस कार्य में अभियंता चड्डा ने केवल 2 बार भेट देने की जानकारी प्राप्त हुई है. इस संदर्भ में अभियंता से चर्चा कर पुछताच करने का प्रयास करने पर उनके द्वारा टालमटोल जवाब दिए गए व ग्रामीणों के साथ बाचाबाची की. 

घटिया कार्य का पूनर्निमान करेंगे -चड्डा

उक्त कार्य के जगह मैने 3 बार भेट दिए. शुरूआत में नाली निर्माझा में लोहे के सलाखें डाले गए. मात्र इसके पश्चात के निर्माणकार्य में लोहे के सलाखें नहीं डाले गए. इस बात मेरे निदर्शन में नहीं आयी. फिलहाल यह कार्य उचित रूप से शुरू है. घटिया स्तर के निर्माणकार्य का पुनर्निमान कराया जाएगा, ऐसी जानकारी लोकनिर्माण विभाग के शाखा अभियंता आर. एस. चड्डा ने दी.