Mahavitaran online payment

    गड़चिरोली. महावितरण के चंद्रपुर परिमंडल के आलापल्ली व गड़चिरोली विभाग में महावितरण ने मुहिम चलाकर आलापल्ली विभाग के 4 हजार 769 तो गड़चिरोली विभाग के 2 हजार 410  ऐसे कुल 7179 बकायेदारों की बिजली आपूर्ति खंडित कर दी है. महावितरण के चंद्रपुर परिमंडल में चंद्रपुर व गड़चिरोली जिले के घरेलू, वाणिज्यिक, औद्योगिक, सरकारी कार्यालय, सार्वजनिक जलापूर्ति योजना व पथदीपों के मार्च 2020 से मई 2021 तक 71 करोड़ 29 लाख ऐसे कुल बकाया राशि 346 करोड़ 65 लाख के करीब पहुंची है.

    जिससे बकायेदारों के खिलाफ बिजली आपूर्ति खंडित करने की मुहिम शुरू की गई है. अब तक 17 हजार 122 ग्राहकों की बिजली आपूर्ति खंडित तो 358 ग्राहकों की बिजली आपूर्ति कायम स्वरूप खंडित की गई है. चंद्रपुर व गड़चिरोली जिले के घरेलू गाहकों की ओर से 69 करोड़ 22 लाख वसूली आना बाकी है. वाणिज्यिक ग्राहकों की ओर से 12 करोड़ 26 लाख, औद्योगिक ग्राहक की ओर से 9 करोड़ 75 लाख, सरकारी कार्यालय व अन्य लघुदाब ग्राहक 8 करोड, जलापूर्ति योजनाओं की ओर 4 करोड़ 17 लाख, शहरी व ग्रामीण पथदीपों के बिजली बिल के ऐवज में जिले के नगर परिषद व ग्राम पंचायत मिलाकर 235 करोड़ आना बाकी है. 62 हजार 365 ग्राहकों द्वारा 18 करोड़ रु. बिजली बिल के पैसे भरने से अब यह बकाया राशि 329 करोड 45 लाख पर आयी है.

    किंतु इस माह में व आगामी दिनों में यह मुहिम अधिक तेज गति से चलायी जाने वाली है. आलापल्ली विभाग में  40 ग्राम पंचायत पथदीपों के बिजली आपूर्ति 7 करोड़ 32 लाख के बकाये के लिए मार्च माह से बिजली आपूर्ति खंडित की गई. बकायेदार ग्राहक समय पर बिजली बिल भरकर महावितरण को सहयोग करें, ऐसा आह्वान चंद्रपुर परिमंडल के मुख्य अभियंता सुनील देशपांडे ने किया है. 

    ऑनलाइन पद्धति से बिजली बिल भरें 

    बिजली बिल भरने के लिए महावितरण द्वारा ग्राहकों को पर्यावरण पूरक ऑनलाइन पेमेंट, मोबाइल एप, गूगल पे, पेटीएम जैसे ग्राहकाभिमुख सुविधा उपलब्ध कराई है. नेटबैंकिंग का अपवाद छोड़ें तो बिजली बिल के ऑनलाइन भरने हेतु इससे पूर्व 500 रु. के अधिक राशि पर शुल्क लगाए जा रहे थे. लेकिन क्रेडिट कार्ड छोड़ नेटबैंकिंग, डेबिट कार्ड, कैशकार्ड, यूपीआई, डिजिटल वॉलेट के माध्यम से ऑनलाइन द्वारा किए जाने वाली बिजली बिल का भरना निशुल्क है.

    ऑनलाइन बिल भरने के लिए 0.25 प्रश सहुलिय प्रति माह 500 रु. के मर्यादा में दिया जा रहा है. लघुदाब श्रेणी के सभी बिजली बिल ग्राहक घर बैठे महावितरण की वेबसाइट, मोबाइल एप या अन्य ऑनलाइन विकल्प द्वारा बिजली बिल भरकर सहयोग करें, ऐसा आह्वान महावितरण ने किया है.