Silence in the streets and markets during the first weekend lockdown in Maharashtra

    आरमोरी. शहर में अत्यावश्यक वस्तूओं की दुकाने शुरू होने से नागरिकों द्वारा सेाशल डिस्टन्सींग का पालन होता दिखाई नहीं दे रहा है. जिससे शहर में एक सप्ताह का कड़क लॉकडाउन लगाएं, ऐसी मांग नगर परिषद के गुटनेता प्रशांत मोटवानी ने तहसीलदार कल्याणकुमार डहाट से की है.

    आरमोरी शहर में कोरोना का प्रादुर्भाव तेजी से बढ रहा है. किराणा, सब्जीयां, फल व अन्य अत्यावश्यक सेवा के दुकाने सुबह 7 से 11 बजे तक शुरू है. मात्र इससे अनेक किराणा दुकान, सब्जी दुकानों में भीड़का प्रमाण बढ़ रहा है. इसके साथ ही नागरिक सोशल डिस्टन्सिंग का पालन करते नजर नहीं आ रहे है. वहीं दुकान शुरू होने के नाम पर अनेक नागरिक अकारण बाहर निकल रहे है. ऐसे में कोरोना की श्रृंखला नहीं तुटेगी. कोरोना वृद्धि की स्थिती जैसे थे है.

    कोरोना संक्रमण की श्रृंखला तोड़ने के लिए शहर में जनता कर्फ्यू लागू कर कड़क लॉकडाउन लगाने की आवश्यक है. वर्तमान में शुरू दुकानों के कारण शहर में कोरोना का प्रादुर्भाव अधिक मात्रा में होने की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता है. कोरोना का प्रादुर्भाव बढने से शहर के नागरिकों के सुविधा हेतु शहर में 1 से 8 मई तक कड़क लॉकडाउन करे, इस लॉकडाउन में केवल स्वास्थ्य सुविधा छोड सभी दुकाने बंद करे, जिससे कोरोना की चेन तुटने में व्यापक मदद होगी, इसके लिए अपने स्तर पर तत्काल निर्णय ले, ऐसी मांग गुटनेते प्रशांत मोटवान ने ज्ञापन से की है.

    तत्काल बैठक आयोजित करे

    आरमोरी शहर में कोरोना प्रादुर्भाव बढ़ रहा है. अत्यावश्यक के नाम पर नागरिक सोशल डिस्टन्सींग का पालन न करते हुए गैरजिम्मेदार बनकर बाहर घुम रहे है. जिससे कोरोना नियंत्रण में आने की स्थिती नहीं दिखाई दे रही है. शहर में एक सप्ताह का कड़क लॉकडाउन लगाने संदर्भ में तत्काल पार्षदों की बैठक आयोजित कर इस संदर्भ में प्रस्ताव ले, ऐसी मांग प्रशांत मोटवानी ने नप के मुख्याधिकारी की ओर की है.