bribe

  • 1 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार

गडचिरोली. शिकायतकर्ता के पिता के उपचार के खर्च का बिल का धनादेश  देने के लिए 1 हजार की रिश्वत लेनेवाले निर्माण विभाग के लिपिक को रिश्वत प्रतिबंधक विभाग ने आज 23 सितंबर को रंगेहाथ गिरफ्तार किया। रिश्वत लेनेवाले लिपिक का नाम बाबाराव शंकरराव बाहे (56) है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गडचिराली सार्वजनिक निर्माण विभाग गडचिरोली में कार्यरत लिपिक बाबराव बाहे ने शिकायतकर्ता के पिता का उपचार पर हुए खर्च के बिल का धानादेश निकालकर देने के लिए 1 हजार की  मांग की थी। शिकायतदार ने इस संबंध में रिश्वत प्रतिबंधक विभाग शिकायत कर दी। एसीबी ने रिश्वत लेने के मामले में लिपिक के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। यह कार्रवाई पुलिस उपअधीक्षक सुरेंद्र गरड, पुलिस निरीक्षक यशवंत राऊत, मोरेश्वर लाकडे, प्रमोद ढोरे, नत्थु धोटे, सुधाकर दंडीकेवार, देवेंद्र लोनबले, महेश कुकुडकार, किशोर ठाकुर, गणेश वासेकर, तुलशीराम नवघरे ने की। मामले की जांच  एसीबी के पुलिस निरीक्षक यशवंत राऊत कर रहे है।