File Photo
File Photo

    गड़चिरोली. जिले में सोमवार को शाम के दौरान तथा मंगलवार को दोपहर के दौरान जिले में विभिन्न जगहों पर झमाझम बारिश हुई है. जिले में हुई इस बारिश के कारण किसानों को कुछ राहत मिली है. जिससे कृषि कार्यों में तेजी देखी जा रही है. किंतु जिले में अबतक अपेक्षा अनुरूप बारिश नहीं होने से किसानों को अबतब बारिश का इंतजार कायम है. जिले में विगत 24 घंटे में केवल 16.6 मिमी बारिश दर्ज की गई है. 

    भामरागड़ तहसील में सर्वाधिक बारिश विगत 24 घंटे में जिले में दर्ज हुई. जानकारी के अनुसार अहेरी तहसील के पेरमिली में सर्वाधिक 62 मिमी बारिश दर्ज हुई है. वहीं जिले में सर्वाधिक बारिश भामरागड़ तहसील में 37.3 मिमी दर्ज हुई. इसके बाद कोरची तहसील में 31.8 मिमी, अहेरी तहसील में 27.1 मिमी, एटापल्ली 26.8 मिमी, सिरोंचा 18.6 मिमी, धानोरा 15.9 मिमी, मूलचेरा 15.2 मिमी, गड़चिरोली 9.5 मिमी, चामोर्शी 6.9 मिमी, कुरखेडा 6 मिमी, आरमोरी 3.6 मिमी बारिश दर्ज की गई है. वहीं देसाईगंज तहसील में बारिश दर्ज नहीं हुई है. 

    नदियों का जलस्तर सामान्य 

    जिले में अबतक अपेक्षा अनुरूप बारिश नहीं हुई है. जिससे जिले की नदियों का जलस्तर सामन्य है. जिला बाढ़ नियंत्रण कक्ष द्वारा दी गई रिपोर्ट के अनुसार चिचडोह बैरेज के समूचे 38 गेट खोले गए. यहां से 1,326 क्यूसेक पानी का विसर्ग जारी है. गोसीखुर्द बांध के सभी गेट बंद हैं. यहां के पॉवर हाउस से 160 क्यूसेक पानी का विसर्ग शुरू है.

    निम्न वर्धा प्रकल्प के सभी 31 गेट बंद हैं. प्राणहिता नदी का जलस्तर महागांव व टेकरा सरीता मापन केंद्र में दर्ज हुए आंकड़ों के अनुसार सामान्य है. सुबह 6 बजे के पंजीयन के अनुसार मेडीगड्डा बैरेज के 85 में से 24 गेट शुरू होकर विसर्ग 1236 क्यूसेक (43680 क्यूसेक) है. जिससे जिले की नदियों का जलस्तर सामान्य होने की जानकारी दी गई है.