Allegations of rules violations imposed on ministers despite Corona restrictions in France, investigation started over eating in restaurants
Representative Image

    • प्रशासन के अनदेखी से उठ रहे सवाल

    देसाईगंज. कोरोना महामारी से जनता को बचाने के लिए राज्य सरकार ने राज्य में लॉकडाउन लगाया है, वहीं प्रशासन द्वारा उपाययोजनाओं पर अमल कर नागरिकों को कोरोना नियमों का पालन करने की अपील कर रही है. मात्र देसाईगंज शहर में स्थित एक नामांकित होटल लॉकडाउन तथा कोरोना नियमों की धज्जीयां उड़ा रहा है.

    शहर के आरमोरी मार्ग पर स्थित यह नामचिन होटल कोरोना महामारी के इस भयावह संकट में नियमों को तार तार कर रहा है. जहां सर्वत्र लॉकडाउन है, दूकाने बंद है, यहां तक की प्रशासने होटल पर भी पाबंदी लगाई है, मात्र यह होटल देररात शुरू रहता है. किंतू प्रशासन का इस ओर ध्यान नहीं होने से आश्चर्य व्यक्त हो रहा है. 

    यहां चलती है पार्टीयां

    देसाईगंज में स्थित उक्त होटल एक नामचिन व्यक्ती का है. बताया जाता है कि, उक्त होटल में देररात तक पार्टीयों का आयोजन किया जाता है. जहां भारी पैमाने पर लोगों की भीड़ भी रहती है. इन पार्टीयों में नामचिन, धनिक व्यक्तियों की ही अधिकत्तर उपस्थिती रहती है. नामचिन लोगों के होने के चलते उक्त होटल की ओर प्रशासन का ध्यान नहीं होने की बात कहीं जा रही है. जिस कारण कोरोना महामारी में लॉकडाउन के बावजूद भी वह होटल बखौफ चल रहा है.

    बतांया जाता है कि, उक्त होटल के समक्ष रात के दौरान 5 से 6 चौपहिया वाहन खड़े रहते है. इस कारण आसानी से अनुमान लगाया जा सकता है कि, होटल में कुछ चल रहा होगा. इसके बावजूद प्रशासन का इस ओर ध्यान नहीं है, जिससे प्रशासनिक अधिकारी जानबुझकर इस होटल की ओर अनदेखी कर रहे है, ऐसी बात कहीं जा रही है. 

    इससे पूर्व की थी कार्रवाई -मुख्याधिकारी

    इस संदर्भ में देसाईगंज नप के मुख्याधिकारी कुलभुषण रामटेके ने बताया कि, संबंधित होटल पर इससे पूर्व भी जुर्माने की कार्रवाई की गई है. वहीं उसे चेतावनी भी दी गई है. किंतू अगर फिर से नियमों का उल्लंघन हो रहा है, तो होटल पर कार्रवाई की जाएगी, ऐसी बात मुख्याधिकारी रामटेके ने कहीं है. वहीं नियमों का उल्लंघन होने पर जांच कर कड़ी कार्रवाई करने के संकेत देसाईगंज के थानेदार डा. विशाल जायस्वाल ने दिए है.