आत्मनिर्भर निधि योजना से संभलेगी पथ विक्रेताओं की अवस्था

  • 10 हजार रुपयों का मिलेगा व्यावसाईक कर्ज
  • गडचिरोली नप अंतर्गत 157 आवेदन प्राप्त

गडचिरोली. कोरोना प्रादुर्भाव के चलते किए गए लॉकडाऊन के कारण सभी व्यवसाय ठप्प हुए है. इसका परिणाम पथबिक्रेताओं के आजिविका पर भी पडा है. अनेक पथबिक्रेताओं के साथ छोटे व्यावसाईक वित्तीय संकटों में फंसे होकर उनके परिवार पर भुखमरी की नौबत आयी है. ऐसे व्यावसाईयों को फिर से उठाने के लिए केंद्र सरकार की ओर से व्यावसाईक कर्ज आपूर्ति योजना चलाई जा रही है. अबतक गडचिरोली नगर परिषद की ओर कर्ज के लिए 157 पथबिक्रेताओं ने आवेदन पेश किया है. नगर परिषद अंतर्गत उक्त योजना युद्धस्तर पर चलाई जा रही होकर यह रोजगार पथबिक्रेताओं की वित्तव्यवस्था संभालने में मददगार साबित होनेवाली है. 

नगर परिषद प्रशासन के सर्व्हे के अनुसार नगर परिषद क्षेत्र में 581 पथबिक्रेताओं का पंजियन किया गया है. इन पथबिक्रेताओं को केंद्र सरकार के प्रधानमंत्री पथबिक्रेता आत्मनिर्भर निधी योजना अंतर्गत 10 हजार रुपयों तक का व्यावसाईक कर्ज उपलब्ध कराया जानेवाला है. उक्त योजना योजना महानगर पालिका, नगर परिषद व नगर पंचायत स्तर पर चलाई जा रही है. 24 मार्च 2020 के पूर्व शहरों में पथबिक्री करनेवाले पात्र पथबिक्रेताओं को इस योजना का प्रत्यक्ष लाभ ले सकते है. नागरी पथबिक्रेताओं को एक वर्ष की वापसी के समयावधि के साथ ही व्यावसाईक कर्ज दिया जा रहा होकर इसकी प्रतिमाह हप्ते से चरणबद्ध रूप से वापसी करना होगा. उक्त योजना का लाभ लेने के लिए पथबिक्रेताओं को आनलाईन द्वारा पंजियन करना है, वहीं बैंक मार्फत दस्तावेजों की पूर्ति करने के बाद ही तथा लाभार्थियों पर किसी तरह का कर्ज नहीं होने का जांचने के बाद ही इस योजना अंतर्गत लाभ दिया जानेवाला है. 

इन दस्तावेजों की करनी होगी पूर्ति 
पीएम पथबिक्रेता आत्मनिर्भर निधी योजना का लाभ लेने के लिए संबंधितों को सेतु केंद्र अंतर्गत ऑनलाईन द्वारा आवेदन करना पडेगा. इसके लिए संबंधित का मतदान कार्ड, आधार कार्ड, पासबुक जेराक्स आदि दस्तावेजों की पूर्ति करनी होगी. 

वापसी के बाद आगामी कर्ज हेतु पात्र 
पथबिक्रेताओं द्वारा व्यावसाईक कर्ज लेने पर ब्याज का दर बैंक के प्रचलित ब्याज दर के तहत लागू रहनेवाला है. उक्त योजना का कर्ज का लाभ लेनेवाले पथबिक्रेता अगर दिए गए कालावधि में कर्ज की वापसी करने पर वे 7 प्रश ब्याज अनुदान के लिए पात्र होंगे. साथ ही आगामी कर्ज लेने के लिए भी पात्र रहेंगे. 

वित्तीय व्यवस्था संभालने का नया मौका -पिपरे
पंतप्रधान नरेंद्र मोदी इलकी संकल्पना से शुरू हुई पीएम पथबिक्रेता आत्मनिर्भर योजना नगर परिषद प्रशासन द्वारा चलाई जा रही है. कोरोना प्रादुर्भाव के कारण विगत 3 माह से पथबिक्रेताओं का व्यवसाय ठप्प हुआ है. जिससे उनके परिवार का जिवनयापन का प्रश्न उनके समक्ष निर्माण हुआ है. ऐसे में बिना तारण कर्ज आपूर्ति योजना पथबिक्रेताओं को निश्चित ही लाभकारी साबित होगी, वहीं उनकी वित्तीय व्यवस्था संभालने का नया मौका मिलनेवाला है. जिससे पात्र पथबिक्रेता आवेदन कर उक्त योजना का लाभ ले, ऐसा आह्वान नगराध्यक्ष योगिता पिपरे ने किया है.