शौर्यस्थल से जवानों की शौर्यगाथा समझने में मदद-एसपी बलकवडे

  • पुलिस अधीक्षक कार्यालय परिसर में शौर्यस्थल का उद्घाटन

गडचिरोली. शहीद जवानों की स्मृति में निर्माण किए गए शौर्यस्थल गडचिरोली जिले के जवानों को नक्सल विरोधी लड़ाई के लिए निश्चित ही प्रेरणा देता रहेगा। जिले के नागरिक व विद्यार्थियों को गडचिरोली पुलिस दल के जवानों की शौर्यगाथा शौर्यस्थल के माध्यम से समझने में मदद होने के कथन जिले के निर्वतमान पुलिस अधिक्षक शैलेश बलकवडे ने कहे।

पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवडे की  संकल्पना से ‘शौर्यस्थल’  का निर्माण गडचिरोली पुलिस दल की ओर से पुलिस अधीक्षक कार्यालय के परिसर में किया गया है। रविवार को पुलिस अधीक्षक बलकवडे के प्रमुख उपस्थिति में शहीद परिवारों के हाथों शौर्यस्थल का उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर एसपी  बोल रहे थे। कार्यक्रम में अपर पुलिस अधीक्षक डा. मोहीतकुमार गर्ग, अपर पुलिस अधीक्षक अजयकुमार बन्सल, मनीष कलवानिया, सहायक पुलिस अधीक्षक मुमक्का सुदर्शन इनके साथ अन्य पुलिस अधिकारी, कर्मचारी व शहीद जवानों का परिवार उपस्थित थे

अबतक 212 जवानों ने दी शहादत

गडचिरोली जिले में नक्सल विरोधी अभियान चलाते हुए अबतक 212 जवानों ने अपने प्राणों की आहुति दी है। इन जवानों के शौर्य व पराक्रम, देश के लिए किया गया बलिदान स्मरण में रहे तथा उनकी यादें गडचिरोली पुलिस दल के जवानों के लिए नक्सल विरोध अभियान में सदैव प्रेरणा देती रहे, इसके लिए शौर्यस्थल का निर्माण किया गया है। इस शौर्यस्थल को जिले के विद्यार्थी व नागरिक भेट दे, ऐसी अपील पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवडे ने की है। 

नावीन्यपूर्ण योजनाओं को शौर्यस्थल में स्थान 

गडचिरोली पुलिस दल द्वारा निर्माण किए गए शौर्यस्थल  में नक्सल विरोधी लडाई में शहीद हुए जवानों के शौर्य व अप्रतिम कार्य का लेखन किया गया है। इन शहीद जवानों के शौर्य की गाथ बयां करनेवाले लघुफिल्म भी तैयार की गई है। साथ ही जिन पुलिस अधिकारी, कर्मचारियों को उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए राष्ट्रपति पदक, राष्ट्रपति शौर्य पदक प्राप्त हुए है उनके नाम का भी उल्लेख शौर्यस्थल में किया गया है। वहीं पुलिस दल ने जिले के आदिवासियों के साथ प्रत्येक घटकों के लिए चलाए गए नाविण्यपूर्ण योजना को भी शौर्यस्थल में स्थान दिया गया है। 

चिकित्सा केंद्र का उद्घाटन

कार्यक्रम के दौरान पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवडे के हाथों पुलिस हॉस्पीटल व बहुउद्देशिय चिकित्सा केंद्र का उद्घाटन किया गया। मरीजों के लिए सभी सुविधा एक ही जगह प्राप्त हो, गडचिरोली जिले में नक्सल विरोधी अभियान चलानेवाले जवानों को तत्काल उपचार मिले इसके लिए पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवडे की संकल्पना से इस अस्पताल का निर्माण किया गया है। इस अस्पताल में अत्याधुनिक मशीनरी के साथ विशेषज्ञ  चिकित्सकों का दल सदैव सेवा में रहनेवाला है। इस अस्पताल का लाभ जिलेभर के पुलिस अधिकारी व उनके परिवार को मिलेगा।