घुमंतू अस्पताल से 12 गावों की देखभाल

  • आम्ही आमच्या आरोग्यासाठी संस्था का उपक्रम

कुरखेड़ा. आम्ही आमच्या आरोग्यासाठी संस्था द्वारा तहसील के 12 गांव में 2 अक्टूबर 2019 से घुमंतू अस्पताल सक्रिय है. इस माध्यम से गांव के नागरिकों की नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच कर ध्यान रखा जा रहा है. तहसील के सोनपुर, आंधली, डोंगरगांव, नेहारपायली, चिचेवाड़ा, वारवी आदि गांव के ग्रामीणों ने संकल्प कर घुमंतू अस्पताल के लिए जगह उपलब्ध करा दी. गांव के एक व्यक्ति की स्वास्थ्य कार्यकर्ता के रूप में चयन किया. इस सभी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को संस्था ने प्रशिक्षण दिया है. डा. सतीश गोगुलवार के मार्गदर्शन में डा. अंजलि भुरले, डा. गोवर्धन गहाणे, पैथालाजिस्ट पांडुरंग मांडवे, शालिनी देशमुख, अतुल नेवारे व वाहन चालक नरेश वालदे के स्वास्थ्य पथक ने लॉकडाउन कालावधि में विशेष कार्य किया है. घुमंतू अस्पताल में रक्तगुट, हिमोग्लोबीन, मलेरिया, शक्कर, पेशाब जांच आदि की सुविधा नि:शुल्क है. इसमें एलोपैथी दवाइयों के साथ आयुर्वेदिक दवाई भी दी जाती है.

1,100 लोगों को दिया काढ़ा
मलेरिया व अन्य बुखार प्रतिबंध के लिए जंगल का अडुलसा, पारिजातक, भुईनिंब, गुलवेल पौधों का उपयोग कर गांव में ही काढ़ा बनाकर हर सप्ताह में एक बार गांव के सभी लोगों को शारीरिक दूरी रखकर दिया गया. तकरीबन 1,100 लोगों को यह काढ़ा सप्ताह में एक बार इसी तरह दो माह तक दिया गया. कोविड-19 प्रतिबंध के लिए होमियोपैथी के आरसेनिक अल्बम-30 गोलियां 800 से 900 लोगों को निशुल्क दिया गया. इस दौरान कोरोना संबंधी जनजागृति की गई. मास्क का उपयोग करना, शारीरिक दूरी रखना, साबुन से स्वच्छ हाथ धोने संदर्भ में नागरिकों को प्रात्यक्षिक द्वारा घुमंतू अस्पताल के पथक ने बताया.