Teachers boycott survey work

मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी इस अभियान अंतर्गत गडचिरोली शहर के लोगों के घर जाकर प्रत्यक्ष सर्वेक्षण करने का कार्य नगर परिषद स्कूलों के 90 प्रतिशत शिक्षकों को सौंपा गया है।

  • तहसीलदार को दी ज्ञापन से जानकारी 

गडचिरोली. मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी इस अभियान अंतर्गत गडचिरोली शहर के लोगों के घर जाकर प्रत्यक्ष सर्वेक्षण करने का कार्य नगर परिषद स्कूलों के 90 प्रतिशत शिक्षकों को सौंपा गया है। मात्र इस कालावधि में शिक्षकों को विभिन्न शैक्षणिक कार्य है। जिससे शहर के नगर परिषद स्कूलों के शिक्षकों ने सर्वेक्षण कार्यो पर बहिष्कार कर  इस संदर्भ में तहसीलदार को निवेदन के माध्यम से सूचित किया है।

मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी इस अभियान का सर्वेक्षण 15 सितंबर से 10 अक्टूबर तक करना है। इसी कालावधि में 24 सितंबर के सरकारी परिपत्रक के अनुसार स्कूलों के शिक्षकों को ऑनलाईन, ऑफलाईन व प्रत्यक्ष गृहभेंट देकर छात्रों को अध्ययन, अध्यापन करना है। वहीं किए गए कार्यो की रिपोर्ट संकलित कर संबंधित पोर्टल पर अपलोड करना है। स्कूल के अन्य कार्य भी करने पडेंगे। ऐसा होने के बावजूद मुख्याध्यापक के साथ सभी शिक्षकों की नियुक्ति सर्वेक्षण के लिए की गई है।

11 सितंबर के सरकारी परिपत्रक के अनुसार सर्वेक्षण के लिए 1 स्वास्थ्य कर्मचारी व 2 स्थानीय जनप्रतिनिधि द्वारा दिए गए स्वयंसेवक होंगे, ऐसा स्पष्ट रूप कहा गया है। मात्र केवल नगर परिषद शिक्षकों की सर्वेक्षण के लिए नियुक्ति की गई है। जिससे विद्यार्थियों का शैक्षणिक नुकसान टालने के लिए नगर परिषद शिक्षकों ने सर्वेक्षण कार्य का बहिष्कार किया है। तहसीलदार को सौंपे निवेदन में रविंद्र  उईके, रविंद्रकुमार पटले, सुधीर गोहणे, कांतीलाल साखरे, रामटेके समेत अन्य शिक्षकों के हस्ताक्षर है।