खेत पर पहुंचे जिलाधीश, स्वयं की धान की रोपाई, दिया संदेश

    गड़चिरोली. आमतौर पर प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी अपने एसी कक्ष में बैठक में जिले का कामकाज देखते हैं. अपने अधीनस्थ अधिकारियों को मार्गदर्शन कर कामों का जायजा लेते रहते हैं लेकिन गड़चिरोली जिलाधीश दीपक सिंगला ने स्वयं एक किसान के खेत में पहुंचकर अन्नदाता किसानों को उचित मार्गदर्शन करने के लिये धान की रोपाई की.

    बता दें कि साखरा गांव निवासी युवराज उंदिरवाड़े नामक किसान के खेत में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था. जहां जिलाधीश दीपक सिंगला ने स्वयं खेत में आकर रोपाई करने से किसान भी आश्चर्य चकित हो गये थे. इस समय जिला कृषि अधीक्षक भाऊसाहब बराटे, नाबार्ड जिला प्रमुख राजेंद्र चौधरी, कृषि अधिकारी अरुण वसवाड़े,  बालाजी कदम, पी. पी. वाहने समेत स्थानीय किसान उपस्थित थे.

    उत्पादन बढ़ाने यांत्रिकीकरण अपनाएं

    कृषि विभाग द्वारा आयोजित कृषि कार्यक्रम में धान की रोपाई कर जिलाधीश ने स्थानीय किसानों से खेत में उत्पादन बढ़ाने के लिये यांत्रिकीकरण अपनाने की अपील की. उन्होंने कहा कि परंपरागत खेती करने में काफी मेहनत लगती है. वहीं उत्पादन भी काफी कम होता है. इससे बाहर निकलने के लिये किसान आधुनिक तरीके से खेती करें जिससे कम मेहनत में अधिक उत्पादन होगा. किसानों को उत्पादन बढ़ाने के लिये यांत्रिकीकरण अपनाने की आवश्यकता होने की बात जिलाधीश सिंगला ने कही.

    जिले के लिये 40 मशीनें ली जाएंगी

    कृषि विभाग ने नियोजन व मानव विकास योजना से ट्रैक्टर वितरण व अन्य यंत्र वितरण योजना शुरू की है. जिससे खेत में उत्पादन बढ़ाने के साथ ही खेती संबंधी अन्य परेशानियां भी दूर होंगी. आगामी कालावधि में जिले में रबी में रोपाई क्षेत्र बढ़ाने के लिये उपाययोजना की जा रही है. यांत्रिकीकरण योजना से जिले के लिये 40 मशीन ली जाएंगी. जिससे प्रति मशीन करीब 100 एकड़ क्षेत्र में रोपाई कर यांत्रिकीकरण को बढ़ावा दिया जाएगा.