गुरवला-विहिरगाव मार्ग पर दिखे बाघ के पदचिन्ह

  • परिसर में डर का वातावरण

गडचिरोली.  शहर से नजीक पोटेगाव इस मुख्य मार्ग पर गुरवला-विहिरगाव इस मार्ग पर पट्टेदार बाघ के पैरों के निशान पाए गए है. जिससे इस परिसर में बाघ का मुक्त संचार होने का स्पष्ट होकर परिसर के नागरिकों समेत पोटेगाव मार्ग से घुकनेवाले नागरिकों में दहशत का वातावरण निर्माण हुआ है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर के कई नागरिक पोटेगाव मार्ग से सुबह के दौरान मॉर्निंग वॉक व शाम के दौरान घुमने जाते है. इस दौरान आज बुधवार 12 अगस्त को सुबह 5.20 बजे के दौरान पोटेगाव मार्ग से मॉर्निंग वॉक ग्रुप के सदस्य बंडू दिलगामे, अनिल शेट्ये, प्रकाश सोनेवार, अशोक बार पोटेगाव मार्ग के विहिरगाव-पोटेगाव टी पाईंट पर हमेशा की तरह घुमने गए थे. इस दौरान गडचिरोली शहर से तकरीबन 3 किमी की दूरी पर जंगल परिसर के गोलदार देव मंदिर के पास उन्हें जानवर के पैरों के निशान दिखाई दिए. अधिक निरीक्षक करने पर उक्त निशान पट्टेदार बाघ का होने का स्पष्ट हुआ है.

नागरीकों को सतर्क रहने की चेतावनी 
गुरवळा-विहिरगाव मार्ग पर पट्टेदार बाघ के पैरों के निशान पाए जाने से इस जंगल परिसर में बाघ का संचार होने का दिखाई दे रहा है. उक्त मार्ग पर शहर के घुमनेवाले नागरिक आना जाना करते है. जिससे नागरिकों में दहशत का वातावरण निर्माण हुआ है. वनविभाग ने इस परिसर में नागरिकों को सतर्क रहने का बोर्ड लगाकर बाघ का बंदोबस्त करे, ऐसी मांग हो रही है.