शालेय शिक्षा शुरू करने की समयसारिणी घोषित, 2 सत्र में शुरू होगी स्कूलें

गड़चिरोली. जिला दंडाधिकारी तथा जिलाधिकारी दीपक सिंगला ने गड़चिरोली जिले में शालेय शिक्षा सुचारू करने के लिए नियमावली तैयार की है. जिले के शालेय शिक्षा शुरू करने की समयसारणी घोषित की गई है. विद्यार्थियों के स्वास्थ्य का ध्यान रखकर 2 सत्रों में स्कूल शुरू करने के आदेश जिलाधिकारी दीपक सिंगला ने दिए है. 

ऑनलाइन अध्यापन का नियोजन करें
शिक्षा विभाग ने सरकारी परिपत्रक व उसके तहत दिए गए निर्देशों का पालन करें. सभी स्कूलें शाला प्रबंधन समिति करने संदर्भ में बैठकों का प्रस्ताव तत्काल संबंधित केंद्रप्रमुख, गुटशिक्षाधिकारी के मार्फत शिक्षाधिकारी को पेश करें. जिन शाला प्रबंधन समितियों ने स्कूलें शुरू करने संदर्भ में बैठक के प्रस्ताव लिए हैं वहां शालेय शिक्षा शुरू करें. शिक्षक स्कूलों में पदभार संभालते समय स्वास्थ्य अधीक्षक, अधिकारी का वैद्यकीय प्रमाणपत्र प्राप्त करें. शाला प्रबंधन समिति शाला शुरू न करने के संदर्भ में बैठक के प्रस्ताव लिए होंगे तो ऐसे जगह भी शिक्षक स्कूल में उपस्थित रहकर विद्यार्थियों को ऑनलाइन सामग्री के माध्यम से अध्यापन का नियोजन करें. 

स्कूल की समयसारिणी
कक्षा 9 वीं, 10 वीं व 12 वीं 1 जुलाई से तो 6 वीं, 8 वीं अगस्त से, 3 से 5 वीं तक सितंबर से व पहली व दूसरी कक्षा संदर्भ में शाला प्रबंधन समिति निर्णय ले. 10 वीं के नतीजे घोषित होने के बाद व 11 वीं में प्रवेश प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद ही नई प्रवेश प्रक्रिया ऑनलाइन पद्धति से अथवा स्कूल में भीड़ न हो इसकी सतर्कता बरतें. स्कूल का परिसर स्वच्छ करें तथा विद्यार्थियों के लिए स्कूल में साबुन, पानी, मास्क, सैनिटाइजर सुविधा 15 वें वित्त आयोग से प्राप्त निधि से आपूर्ति करें. 

शिक्षकों को मुख्यालय में रहना अनिवार्य 
शिक्षकों को मुख्यालय पर रहना अनिवार्य किया गया है. शिक्षक जिन गांवों में स्कूलों में कार्यरत हैं, वहीं शिक्षक स्वयं के रहने की व्यवस्था करें. इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति, संस्था अथवा समूह पर संक्रमित रोग प्रतिबंधक कानून 1897 आपत्ति व्यवस्थापन अधिनियम 2005 तथा भारतीय दंड संहिता 1860 के अनुसार कार्रवाई की जाएगी.