The corpse of the corona virus had to keep the family in the freezer for 48 hours

गोंदिया. जिले में आकस्मिक मृत्यु होने के मामले में अचानक वृद्धि हो गई है. इन तीन दिनों में जिले के 6 पुलिस थानों में आकस्मिक मृत्यु के 11 मामले दर्ज किए गए है. इसमें आमगांव थाने के तहत नरेटीटोला निवासी महिला सीमा गेंदलाल खंडाते (35) ने रिसामा में मकान के बाहर खिडकी मेंं फांसी लगाकर आत्महत्या की है. गोरेगांव थाने के तहत बोटे निवासी मुनेश्वर प्रभुदास साबरे (48) ने विष प्राशन किया था. जिसकी केटीएस अस्पताल में उपचार के दौरान मृत्यु हो गई.

तिरोड़ा थाने के तहत तिरोड़ा में मनसर निवासी राजेंंद्र मानसिंग चित्तौढ़ (25) यह मोटर साइकिल से गिर गया. जहां उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई. इसी थाने के तहत ग्राम घुमर्रा में जयवंता बाई गोपीचंद खोसरे (70) ने पड़ोस में रहने वाले गुनेश्वर जयराम ठाकरे के कुएं में कूदकर आत्महत्या की.

तिरोड़ा के नेहरु वार्ड में जानकी लक्ष्मी वेणु सिलीवरी 24 ने घर पर ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. गंगाझरी थाने के तहत टिकायतपुर निवासी सुखराम धनपत लिल्हारे (64) को बे्रन हेमरेज हुआ था. लेकिन वह महेंद्र बघेले के घर केपास स्थित कुएं में मृत मिला है. आमगांव थाने के तहत पदमपुर निवासी दयाराम तुकाराम रहिले (70) के विष प्राशन करने पर उसे केटीएस जिला सामान्य अस्पताल में भर्ती किया गया जहां उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई.

देवरी थाने के तहत कोयलारी-शेंडा निवासी रामचंद्र बोरकरक (70) यह घर के पास जंगल में पलस के पेड़ पर फांसी लगाकर झुलता दिखाई दिया. तिरोड़ा थाने के तहत बेलाटी खुर्द निवासी महिला अमरकला रहांगडाले (28) ने घर के पास हंसराज कटरे के खेत में कुएं मे कूदकर आत्महत्या कर ली. इसी तरह दवनीवाड़ा थाने के तहत धापेवाडा निवासी निलकंठ चैनलाल देवगडे (23) को विष प्राशन करने के बाद मीरावंत हास्पीटल में भर्ती किया गया था. जहां उपचार के बीच में ही उसकी मृत्यु हो गई. इन सभी प्रकरणों को संबंधित थानों में दर्ज किया गया है.