Schools started
File Photo

गोंदिया.  शाला कब शुरु करे इस विषय को लेकर अब तक भ्रम बना हुआ है. लेकिन शाला शुरु करने का निर्णय शाला व्यवस्थापन समितियों को लेने का अधिकार शिक्षा विभाग ने दिया था. इसके अनुसार जिले की 1062 प्राथमिक शाला 26 जून को शुरु करने के संदर्भ में शाला व्यवस्थापन समितियों ने सहमति दी है इसमें गोंदिया तहसील के सबसे अधिक 258 शाला व्यवस्थापन समितियों ने हरी झंडी दी है. कोरोना का संक्रमण कम होते दिखाई नहीं दे रहा है लेकिन कोरोना की वजह से विद्यार्थियों की शिक्षा का नुकसान न हो इस उद्देश्य से शासन द्वारा शाला शुरु करने के लिए नए नए प्रयोग किए जा रहे है.

इसी में 26 जून को शाला की घंटी बजेगी या नहीं इस संबंध में शिक्षा विभाग ने शाला व्यवस्थापन समितियों को निर्णय लेने का अधिकार दिया था. इसके अनुसार प्राथमिक शिक्षण विभाग के माध्यम से जिले की 1062 शालाओं की व्यवस्थापन समिति की सभा लेकर वैसा निर्णय लेने बताया गया था. शिक्षण विभाग के आदेशानुसार सभी शाला व्यवस्थापन समितियों ने इस विषय पर निर्णय लिया व शिक्षण विभाग को भेज दिया. इसमें गोंदिया तहसील की 258 शाला, सडक अर्जुनी 52, अर्जुनी मोरगांव 129, आमगांव 103, देवरी 167, गोरेगांव 100, सालेकसा 127 व तिरोड़ा तहसील की 126 शालाओं का समावेश है. 

नियमित आधे समय वाली 382 शाला
जिले में पूर्ण समय शाला शुरु करने के लिए सबसे अधिक शाला व्यवस्थापन समितियों ने सहमति दर्शाई है. जबकि 382 समितियों ने नियमित आधे समय तक शाला शुरु रखने की ईच्छा व्यक्त की है. इसमें गोंदिया तहसील की 67, आमगांव 44, देवरी 21, गोंदिया 136, सालेकसा 17, सडक अर्जुनी 46 व तिरोड़ा तहसील की 51 शालाओं का उल्लेख है. विशेष बात यह है कि गोरेगांव तहसील की 157 समितियों में से नियमित पूर्ण समय शाला शुरु करने केे लिए 100 प्रश. तथा कुछ विद्यार्थी ऑनलाइन, कुछ विद्यार्थी शाला में रहकर शाला शुरु करने शेष 57 समितियांें ने सहमति दी.