Praful Patel

गोंदिया. राज्य शासन ने धान उत्पादक किसानों के लिए 500 रु.का बोनस घोषित किया था लेकिन पिछले शीतकालीन सत्र में सांसद प्रफुल पटेल की विनंती पर राज्य शासन ने 200 रु. बोनस बढ़ाने की घोषणा की. इस प्रकार से धान उत्पादक किसानों को 700 रु. प्रति क्विंटल बोनस घोषित हुआ. शासन द्वारा घोषित बोनस खरीफ मौसम 2019-20 के लिए इससे पूर्व मिली निधि किसानों के खाते में जमा की गई, उसके बाद भी गोंदिया व भंडारा जिले के किसानों की बोनस निधि शासन की ओर प्रलंबित है.

सांसद प्रफुल पटेल ने पुन: राज्य शासन से पत्र व्यवहार कर तथा मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे व उप मुख्यमंत्री अजित पवार से चर्चा कर यह बोनस निधि तत्काल देने की मांग की. जिस पर महाराष्ट्र राज्य मार्केटिंग फेडरेशन मुंबई द्वारा 17 जून को जिले के किसानों को बोनस देने के लिए जिला मार्केटिंग अधिकारी गोंदिया को 56.34 व भंडारा जिला मार्केटिंग अधिकारी को 103.65 करोड़ रु. विभाजीत की गई.

जिन धान उत्पादक किसानों को बोनस की राशि नही मिली है उन्हें जल्द ही बोनस की राशि दी जाएगी. उसी तरह रबी मौसम 2020-21 मेें खरीदी किए गए धान फसल का मुआवजा देने के लिए गोंदिया जिला मार्केटिंग अधिकारी को 134.76 व भंडारा जिला मार्केटिंग अधिकारी को 42.89 करोड़ की राशि 18 जून को विभाजीत की गई. किसानों ने बोनस की राशि उपलब्ध करा देने के लिए सांसद पटेल का आभार माना है.